Tuesday, May 15, 2018

सरकारी भूमि पर अतिक्रमण के खिलाफ जनता ओर पुलिस में झडप

आदर्श दुबे की रिपोर्ट
गोरखपुर। सरकारी जमीन पर अवैध तरीके से आवास बनवाए जाने के विरोध में मंगलवार की सुबह आक्रोशित भीड़ ने गगहा थाने पर पथराव कर दिया। पुलिस ने भीड़ को काबू में करने के लिए रबर की गोलियां चलाई। इस दौरान तीन ग्रामीण घायल हो गए। इस दौरान कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। मौके पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी पहुंच गए हैं। स्थिति नियंत्रण में बताई जा रही है।मिली जानकारी के अनुसार गगहा थाना क्षेत्र के अस्थौला गांव में ग्रामप्रधान द्वारा अपने एक करीबी का ग्रामसमाज की जमीन पर आवास बनवाया जा रहा है। ग्रामीण इसका विरोध कर रहे थे। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी गगहा थाने पर दी थी। कल ग्राम प्रधान द्वारा असथौला के दलित बस्ती के लोगो के खलिहान थे जहां दलित बस्ती के लोग अपना मड़ई डाले हुए थे।कल ग्राम प्रधान के लोगो द्वारा उसे कब्जा करवाने जाने लगा जिसको लेकर गांव के लोगो ने आपत्ति दर्ज करवाई फिर लोगो मे इस बात को लेकर विवाद हो गई।इस दौरान पहुची पुलिस ने दोनों पक्ष समझा बुझा कर सुबह थाने पर बुलाया था।आज सुबह जब दलित बस्ती के लोग गांव पर पहुचे तो वहां पहले से प्रधान प्रतिनिधि बैठे हुए थे उसके बाद लोगो के बीच कहा सुनी होने लगी।थाने से कोई कार्रवाई न होने पर ग्रामीण उग्र हो गए। सुबह ही बड़ी संख्या में ग्रामीण गगहा थाने पर पहुंच गए। उग्र ग्रामीणों ने कुछ देर नारेबाजी की फिर पथराव शुरू कर दिया। *परिसर में खड़ी एसओ सुनील सिंह की प्राइवेट कार और कुछ बाइक तोड़ दी।ग्रामीणों ने थाने के सामने ही गोरखपुर-वाराणसी राष्ट्रीय राजमार्ग जाम कर दिया। स्थिति बिगड़ती देखकर पुलिस ने रबर की गोलियां चलाई। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने फायरिंग भी की। इससे भगदड़ मच गई। आक्रोशित भीड़ में तीन लोग घायल हो गए। घटना की जानकारी पाकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। गोला, बड़हलगंज और बांसगांव थाने की पुलिस भी बुला ली गई। पुलिस ने राजमार्ग खाली करा दिया है। स्थिति नियंत्रण में है।

No comments:

Post a Comment