Monday, May 28, 2018

खाद्यान्न घोटाले का पर्दाफाश मुख्य आरोपी फरार

गोंडा क्षेत्र के बंधवा के कोदई बगिया में एक निजी गोदाम में बड़े पैमाने पर हो रहे सरकारी खाद्यान्न घोटाले का पर्दाफाश हुआ है। विधायक तरबगज और उप-जिलाधिकारी के नेतृत्व में तमाम अधिकारियों की मौजूदगी में पड़े छापे में हजारों बोरी सरकारी खाद्यान्न बरामद हुआ है। आरोपी अपने साथियों समेत फरार होने में सफल रहा।रविवार की दोपहर को मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर विधायक तरबगंज प्रेमनरायन पाण्डेय, उपजिलाधिकारी सौरभ भट्ट, सीओ तरबगंज कृष्णचन्द्र सिंह, तहसीलदार श्याम कुमार, जिला पूर्ति अधिकारी राजीव कुमार, डिप्टी आरएम अजय विक्रम के नेतृत्व में टीम ने जब खाद्यान्न गोदाम पर छापा मारा तो वहां हजारों बोरी चावल जिस पर जगाधरी हरियाणा का टैग लगा हुआ था, के साथ भारी मात्रा में खुले और बोरियो में पैक गेंहू जिन पर क्रय केंद्र साधन सहकारी समिति कर्मा सांचे से छापा जा रहा था। गोदाम में ही एक ट्रक से गेहूं उतारा जा रहा था। मौके से बोरा सिलने की दो मशीन, दो कम्प्यूटराइज्ड तौल कांटे, भारी मात्रा में सरकारी सप्लाई के खाली बोरे के साथ पैकिंग व लदान के अन्य उपकरण भी मौके पर मिले।
इस सम्बंध में विधायक तरबगंज ने बताया कि मुख्यमंत्री के गत दिनों वन टांगिया ग्राम असर्फाबाद में हुए आगमन पर उनसे वजीरगंज और बेलसर ब्लॉकों में सरकारी खाद्यान्न के बड़े पैमाने पर हो रहे हेराफेरी की लिखित शिकायत की थी, मौके पर ही मुख्यमंत्री ने जिले के अधिकारियों के पेंच कसे थे। विधायक ने यह भी बताया कि बरामद खाद्यान्न 50 लाख से एक करोड़ के बीच का हो सकता है।एसडीएम सौरभ भट्ट ने बताया कि मौके पर दस हजार बोरी की गिनती की जा चुकी है, शेष की गिनती हो रही है। यह गोदाम पवन सिंह की निजी संपत्ति है और वही इसमें संलिप्त बताया जा रहा है इसमें लोगो के शामिल होने की संभावना है,जिसकी जांच की जा रही है। दोषियों को किसी भी सूरत में बख्शा नही जाएगा।
पबन कुमार द्धिवेदी

No comments:

Post a Comment