Wednesday, May 16, 2018

ऐसे खत्म हो सकता है देश से चुटकियों में ये दीमक-अरविंद सागर

आजकल भरष्टाचार अपने चरम सीमा पर है लेकीन यह कहना गलत नही होगा की यह भ्रष्टाचार का जङ बहुत ही पुराने समय से बेजोङ तरीके से जनता की पैसे को लूटते हुए चला रहा है परंतु इसकी इलाज आजतक की कोई भी सरकार नही कर पाई है लेकीन मेरा सुझाव अगर सरकार तक पहुंच जाय तो जरूर कुछ समाज मे जनता के हित के साथ बेहतर हो सकता है बस एक कानून पारित करने की जरूरत है और काफी हद तक भ्रष्टाचार को हम समापन कर सकेगें तो आईये जाने वह सुझाव सुझाव_नम्बर-1 अगर सरकार एक ऐसा कानून पारित कर ले जिसमे यह नियम हो की अगर कोई भी व्यक्ति विडियों अथवा फोटों ग्राफ के जरिये किसी भी अधिकारी का घुस लेते हुए जुर्म साबित करता है तो भ्रष्ट अधिकारी की उसकी पुरी जमा की गई ईपीएफ और वर्तमान की शेष बची हुई धनराशि को सबूत देने वाले वयक्ति को दे दिया जायेगा और भ्रष्ट अधिकारी को हमेशा के लिये नौकरी से बर्खास्त कर दिया जायेगा और सबूतिया वयक्ति का पहचान भी गुप्त रखा जायेगा, अब इससे यह फायदा होगा की सभी पब्लिक एक्टिव हो जायेगी क्यो की इनाम जो पाना है और सरकार के खजाने पर भार भी नही बढेगा और इतना ही नही भ्रष्ट अधिकारी घूस लेने मे भी कांप जायेगे क्यो की उनकी जमा पूंजी ईपीएफ की भी धनराशि हाथ से निकल जाने की डर जो होगी जबकि की आज वर्तमान मे ऐसा कोई ठोस कानून नही है जिससे इन भ्रष्ट अधिकारियों पर लगाम लगाया जा सके पर इन सभी कार्यवाही के लिये आन-लाइन पोर्टल होना अति आवश्यक है जिसपर पब्लिक अपनी सबूत सिधे तौर पर प्रदेश के डीजीपी को भेज सकें सुझाव_नम्बर-2 अगर सरकार नेताओ को भी इसके दायरे मे लाने मे क़ामयाब हो जाती है तो देश से भ्रष्टचार की मुक्ति की जा सकती है कानून मे यह जरूर होनी चाहिये की नेता लोगो की पाबंद पांच साल नही बल्कि सदा के लिये चुनाव से दूर कर दिया जाय और उनके पीङी की किसी भी वयक्ति को चुनाव लङने की इजाजत न हो फिर देखिये देश से कैसे भ्रष्टचार समापन होता है।
दोस्तो यह अरविंद कुमार सागर समाजिक कार्यकर्ता का सुझाव आप लोगो को कैसा लगा अवश्य शेयर और कमैंट कर हमे अवगत करायें।

कलम से
अरविंद सागर
समाजिक कार्यकर्ता
कुशीनगर उत्तर प्रदेश भारत

No comments:

Post a Comment