Saturday, June 30, 2018

हत्त्या के तीन दिन बाद भी पुलिस ने नही दर्ज की रिपोर्ट

आदर्श दुबे की रिपोर्ट

गोरखपुर । सीएम सिटी की पुलिस अब सिर्फ अमीरों के लिए काम करेगी ? शहर के बेतियाहाता स्थित सर्राफा रेजीडेंसी के एक फ्लैट में झाड़ू बर्तन का काम करने वाली महिला राजकुमारी साहनी पत्नी दुलारे की हत्या के तीसरे दिन भी कोई कार्रवाई न होने से कुछ ऐसा ही लग रहा है। वही शुक्रवार को इस मामले में मोहल्लेवासियों ने बेतियाहाता रोड़ पर चक्का जाम कर दिया । चक्का जाम की खबर सुनकर कैंट पुलिस मौके पर पहुंची और कार्रवाई के आश्वासन पर जाम को खत्म कराया ।इस सम्बंध में मृतक राजकुमारी देवी के पति दुलारे ने आरोप लगाया की 27 जून को मेरी पत्नी की लाश बिल्डिंग के नीचे जमीन पर पड़ी हुई थी और उसके सर और हाथ में चोट के निशान थे। बिल्डिंग के मैनेजर और मकान मालिक ने बिना मुझे बताएं लाश को बाहर भिजवा दिया और लोगों से बताया कि यह लावारिस है। मेरी पत्नी के साथ काम करने वाली महिलाओं ने मुझे इसकी सूचना दी तब जाकर के मुझे पता चला । दुलारे यह भी कह रहे हैं कि उनके ऊपर मामला खत्म करने के लिए दबाव डाला जा रहा है । वहीं सामाजिक कार्यकर्ता धीरेंद्र प्रताप ने बताया कि मोहल्लेवासियों के हिसाब से यह इस तरह का चौथा मामला है। सर्राफा रेजीडेंसी में इसके पूर्व भी इस तरह के मामले हो चुके हैं। मृतक राजकुमारी देवी का पति दुलारे एटीएम में चौकीदारी का काम करता है और बेहद गरीबी में अपना जीवन बसर कर रहा है।
हांलाकि तमाम आरोपो के बाद भी पुलिस द्वारा कोई मामला दर्ज न किया जाना किसी बड़ी डील की ओर इशारा कर रहा है। वहीं एसओ कैंट ने बताया कि मामले कि जांच कराई जा रही है और जांच में हत्या की पुष्टि हो जाने के बाद ही एफआईआर दर्ज की जाएगी। अब देखना दिलचस्प होगा कि पुलिस आखिर कब तक जांच पूरी करती है ।

No comments:

Post a Comment