Monday, June 11, 2018

राजस्थान के भिवाड़ी गैंग रेप वसूली कांड महिला समेत तीन गिरफ्तार

राजस्थान के भिवाड़ी गैंग रेप कांड में नेताजी सुभाष पैलेस ने महिला समेत तीन को इलाके से गिरफ्तार किया है। जिसमें एक फोन कंपनी का पार्टनर भी है।  भिवाड़ी गैंगरेप में पंजाबी बाग स्थित रफ्तार क्लब का मालिक की मिलीभगत से कराया गया था।  महिला ने केस वापिस लेने के लिए दस करोड़ रुपए पहले मांगे थे। जिसमें सौदा होने के बाद दूसरी किश्त लेने महिला अपने दो साथियों के साथ नेताजी सुभाष पैलेस इलाके के एक ऑफिस में आई थी। वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है। इस मामले में कोई अधिकारिक रूप से कोई पुलिस अधिकारी बोलने को तैयार नहीं है। इस पूरे मामले में दिल्ली पुलिस ने भिवाड़ी पुलिस से भी संपर्क किया है। सोमवार को भिवाड़ी पुलिस दिल्ली आ सकती है। तीनों को ट्रांजिट रिमांड पर ले जाने के लिए आ सकती है। बताया जा रहा है कि पकड़े गए आरोपियों में मोहित नामक कारोबारी है। इस मामले में पंजाबी बाग के एक बड़े रेस्टोरेंट के मालिक की मिलीभगत पर पूरा मामला हुआ था। इस मामले में भिवाड़ी पुलिस के दो पुलिस वालें भी संदिगध है।
जानकारी के मुताबिक पांच मई मई को भिवाड़ी गैंगरेप में स्थानीय पुलिस ने पांच युवकों को गिरफ्तार किया था। लडक़ी पंजाबी बाग स्थित रफ्तार क्लब के मालिक की जानकार थी। जो उसी के क्लब में नौकरी भी करती है। गैंगरेप में जो आरोपी बनाए गए थे। वे सभी क्लब मालिक के करीबी जानकार है। लडक़ी की सहायता से उसने पांचों को छुड़वाने और केस वापिस लेने के लिए दस करोड़ रुपए की रकम मांगी थी। जिसकी एक किश्त दे भी दी गई थी। दूसरी किश्त करीब 30 लाख रुपए लेने के लिए लडक़ी अपने दो साथियों के साथ नेताजी सुभाष पैलेस इलाके में स्थित एक ऑफिस में आई थी। सूत्रों की मानें तो इसमें रिङ्क्षगग बैल कंपनी का पार्टनर भी शामिल था। जिसको गिरफ्तार कर लिया है। जिसके बारे में पुलिस को पीडि़त परिवार की तरफ से सूचना मिल भी गई थी। परिवार वालों ने बताया था कि उनके बच्चों को फंसवाने में रफ्तार क्लब के मालिक का पूरा था। जिसने साजिश के तहत वारदात को अंजाम दिलवाया था। लडक़ी को तीन से चार करोड़ रुपए देने का भी वादा किया था।  नेताजी सुभाष पैलेस पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया। मौके में घेराबंदी कर कारोबारी को बैग दिया। जिसके 30 लाख  रुपए थे। जब महिला अपने दो साथियों के साथ रेस्टोरेंट में आई और नोटों से भरा बैग लेकर अपने साथियों को देने लगी। पुलिस टीम ने तीनों को दबोच लिया। वारदात रेस्टोरेंट में लगे सीसीटीवी कैमरों में भी कैद हुई है।   पीडि़तों के परिवार वाले करीब डेढ करोड़ रुपए पहले ही महिला को दे चुके थे। वसूली की दूसरी किश्त महिला लेने आई थी। आज महिला को 32 लाख रुपए लेने के लिए बुलाया था। इस पूरे मामले में पुलिस को अभी दो अन्य आरोपियों की भी तलाश है।




शहज़ादा हाशमी ✍

No comments:

Post a Comment