Thursday, June 7, 2018

ग्राम स्वराज अभियान की जिला अधिकारी ने की समीक्षा दिए निर्देश

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
गोंडा।डीएम जेबी सिंह ने शासन के निर्देशन में 14 अप्रैल से 05 मई तक आयोजित किए ग्राम स्वराज अभियान ग्राम स्वराज अभियान के तहत राज्य सरकार द्वारा चयनित जिले के 16 ग्रामों में सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत चयनित लाभार्थियों के संतृप्तीकरण की समीक्षा की। कैम्प कार्यालय पर आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने सरकार द्वारा अभियान के अन्तर्गत निर्धारित योजनाओं के संतृप्तीकरण के सम्बन्ध में अधिकारियों को निर्देश दिए कि 15 जून के भीतर योजनाओं में चयनित लाभार्थियों को लाभान्वित कर शत-प्रतिश संतृप्तीकरण कर रिपोर्ट दें।
बताते चलें कि 14 अप्रैल से 05 मई तक सरकार के निर्देशन में ग्राम स्वराज अभियान चलाया गया था जिसमें जिले के 16 विकासखण्डों से एक-एक ग्राम चयनित किए गए थे। इन चयनित ग्रामों में ग्राम स्वराज अभियान के तहत सरकार के निर्देशन में 14 अप्रैल को सामाजिक न्याय दिवस, 18 अप्रैल को स्वच्छ भारत अभियान दिवस, 20 अप्रैल को उज्ज्वला दिवस, 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायतीराज दिवस, 30 अप्रैल को आयुष्मान दिवस, 02 मई को किसान कल्याण दिवस तथा 05 मई को आजीविका दिवस मनाया गया जिसमें चयनित गांवों में विभागीय योजनाओं के तहत शत-प्रतिशत संतृृप्तीकरण के निर्देश दिए गए थे। योजनाओं में मुख्य रूप से प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, सौभाग्य(प्रधानमंत्री बिजली हर घर योजना), उजाला योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना तथा मिशन इन्द्रधनुष स्कीम के तहत लोगों का शत-प्रतिशत संतृृप्तीकरण किया जाना था। इस अभियान में जिले के सात गांवों को भारत सरकार द्वारा चयनित किया गया था जिसमें विकासखण्ड झंझरी अन्तर्गत कपूरपुर, कटरा अन्तर्गत लक्ष्मनपुर कटौली, मनकापुर में महेवा गोपाल, पण्डरीकृृपाल में बैनिया व पिलखांवां, रूपईडीह में भुड़कुड़ा तथा विकासखण्ड छपिया अन्तर्गत बेलहरी बुजुर्ग शामिल है। अभियान में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रत्येक ब्लाक के सर्वाधिक अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति की आबादी वाले गांवों, प्रत्येक नगर निगम, नगर पालिका परिषद, नगर पंचायतों के वार्डों को चयनित कर भारत सरकार व राज्य सरकार की लाभार्थीपरक योजनाओं से संतृृप्त किया गया जिसमें प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, सौभाग्य(प्रधानमंत्री बिजली हर घर योजना), उजाला योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना तथा मिशन इन्द्रधनुष, स्टार्ट अप इन्डिया, पेंशन योजनाओ जैसे वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन, दिव्यांगजन सशक्तीकरण, प्रधानमंत्री आवास योजना, पेयजल योजना के तहत हैण्डपम्पों का अधिष्ठान एवं रिबोर) राशन कार्ड, अनुसूचित जाति/जन जाति हेतु शादी अनुदान योजना, अनुसूचित जाति/जन जाति हेतु निःशुल्क बोरिंग तथा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत लाभार्थियों को अभियान में लाभान्वित किया गया। इसेके अतिरिक्त जिले की सातों नगर पालिका/नगर पचंायत के एक-एक वार्डों को भी अभियान में शामिल किया गया जहां पर सरकार की सोलह मुख्य विभागीय योजनाओं के तहत लोगों को लाभान्वित किया गया। समीक्षा में ज्ञात हुआ कि सौभाग्य योजना के तहत विद्युतीकरण के लिए लक्षित 4124 परिवारों सापेक्ष 2093 कनेक्शन, उजाला योजना के तहत 237 लोगों को गैस कनेक्शन वितरण, प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत 674 के सापेक्ष 510 परिवार, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति गीमा योजना के तहत 182 परिवारों के सापेक्ष 144 परिवार, प्रधनमंत्री सुरक्षा जीवन बीमा योजना के तहत 736 परिवारों के सापेक्ष 572 परिवारों, मिशन इन्द्रधनुष योजना के तहत 589 के सापेक्ष 622 परिवारों, प्र्रधानमंत्री फसल बीमया योजना के तहत 1659 किसानों का किसान क्रेडिट कार्ड,  शादी अनुदान योजना के चयिनत 21 लाभार्थियों के सापेक्ष 11 लाभार्थियों को, 43 निःशुल्क बोरिंग,वृद्धावस्था, दिव्यांग व विधवा पेंशन के चयनित 300 लाभार्थियों के सापेक्ष 252 लाभार्थियों तथा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 113 लोगों तथा 6388 पात्रों को राशन कार्ड वितरित कर लाभान्वित किया गया। जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि शेष बचे लााभार्थियों को 15 जून तक हर हाल में योजनाओं का लाभ देकर संतृप्त कर रिपोर्ट दें।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अशोक कुमार, एडीएम रत्नाकर मिश्र, सीएमओ डा0 संतोष श्रीवास्तव, डीपीआरओ घनश्याम सागर, उपनिदेशक कृृषि मुकुल तिवारी, अधिशासी अभियन्ता विद्युत अशोक यादव, जिला कृृषि अधिकारी विनय सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी राजीव कुमार उपस्थित रहे। सरकार के द्वारा आम आदमी को लाभ पहुचाने के लिए योजनाए संचालित की जा रही ।प्रशासन को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वह पात्र लोगो तक पहुँची है या नही ।महज मीटिंग करके योजनाओं को लागू नही किया जा सकता है ।प्राप्त जानकारी के अनुसार पात्र व्यक्ति तक योजनाओं का न पहुँचना सरकार के लिए चुनाऊ में बहुमत का आंकड़ा पाना मुश्किल हो सकता है ।इसलिए सरकार को भी चाहिए कि योजनाओं की समीक्षा करें कि लोगो तक उसका लाभ पहुँचा है या नही ।

No comments:

Post a Comment