Tuesday, June 19, 2018

सभी खराब नलकूपो को दो हप्ते में चालू करवाने के दिये निर्देश

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में ने एक्सईएन से नलकूपों का डाटा तलब किया तो ज्ञात हुआ कि जनपद में कुल 597 नलकूप है जिनमें से 12 नलकूप यांत्रिक दोष के कारण, 25 विद्युत दोष के कारण, 04 निष्योज्य,, 21 फेल यानी रिबोर योग्य, 17 नलकूप तार चोरी होने के कारण अनुपयोगी तथा 4 नलकूप निर्माणाधीन सहित कुल 93 नलकूप ऐसे है जिसने सिंचाई का कार्य नहीं हो रहा है। एक्सईएन नलकूप द्वारा बताया गया कि एक नलकूप पर अवैध कब्जा है। डीएम ने तत्काल अवैध कब्जा हटवाने के निर्देश दिए हैं। ज्ञात हुआ कि जिले में 31 नए नलकूपों का निर्माण काय्र हिकया जाना है जिसमें 26 सामान्य वर्ग के तथा 5 अनुसचित जाति के लिए होगें। डीएम ने एक्सईएन को निर्देश दिए कि मानक के अनुसार लाभार्थियों का चयन कर प्रस्ताव प्रस्तुत करें जिससे ससयम नलकूपों का निर्माण कार्य रूाुरू कराया जा सके। निर्देश दिए कि वे नलकूपा विभाग के अधिकारी व गन्ना विभाग के अधिकारी सयुक्त सर्वे कर मानक अनुरूप प्रस्ताव दें। यह भी बताया गया कि ज्यादातर नलकूपों की नालियां टूटी हुई हैं जिससे टेल तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। डीएम बरसात से पूर्व आवश्यक कार्यवाही कर नालियां दुरूस्त कराने के निर्देश एक्सईएन नलकूप को दिया है।बैठक में सीडीओ अशोक कुमार, एक्सईएन नलकूप आशीष जायसवाल, एसडीओ गन्ना उपस्थित रहे। कुछ नलकूप वर्षो से बंद पड़े है ,उनकी नालियां टूट चुकी है ।नालियों पर अवैध कब्जा हो चुका है ।वही नलकूप के न चलता है उसके बाद भी नलकूप आपरेटर घर बैठकर वेतन ले रहे है ।इस तरफ भी ध्यान देने की जरूरत है ।यदि जिलाधिकारी जी नलकूप विभाग का भला करने चाहते है तो सभी विन्दुओ पर ध्यान देना होगा । नलकूप बंद है या चालू है उस नलकूप से सिंचाई हो रही है या नही उसकी नालियां बनी है कि उस पर अवैध कब्जा तो नही नलकूप आपरेटर मुफ्त का वेतन तो नही ले रहे है ।।      इन सब विन्दुओ पर  ध्यान देने की विशेष जरूरत है ।


No comments:

Post a Comment