Saturday, June 16, 2018

जिला का होगा विकास जिला योजना की बैठक में मिली मंजूरी

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
जिला अस्पताल में पिछले एक साल में हुई खरीद सहित कई विभाग की होगी जांच, कमेटी गठित कर जांच कराने के निर्देशजिला योजना की बैठक में जिले के विकास के लिए 40672 लाख रूपए के परिव्यय का अनुमोदन हुआ। जनपद  के प्रभारी मंत्री उपेन्द्र तिवारी की अध्यक्षता में जिला पंचायत सभागार में आयोजित जिला योजना समिति की बैठक में परिव्यय को मंजूरी मिली वहीं विकास कार्यों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को कड़ी नाीहत भी दी गई।
जिला योजना की बैठक में अनुमोदित परिव्यय में मनरेगा के मद में 14638.75 लाख रूपए, ग्रामीण आवास के लिए 9739.10 लाख रूपए, ग्रामीण स्वच्छता के लिए 7100 लाख रूपए, कृषि विभाग के लिए 30 लाख रूपए, गन्ना विभाग के लिए 440 लाख रूपए, लघु एवं सीमान्त कृृषकों को सहायता के लिए 278.36 लाख रूपए, निजी लघु सिंचाई के लिए 51.72 लाख रूपए, पशुपालन के लिए 104.70 लाख रूपए, दुग्ध विकास के लिए 162.12 लाख रूपए, वन विभाग के लिए 807.54 लाख रूपए, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के लिए 382 लाख रूपए, पंचायतीराज विभाग के लिए 572 लाख रूपए, राजकीयश्लघु सिंचाई के लिए 29.95 लाख रूपए, नेडा विभाग को 96.30 लाख रूपए, खादी ग्रामोद्वोग के लिए 3 लाख, लोक निर्माण विभाग के लिए 1201.25 लाख रूपए, विज्ञान एवं प्रोद्यौगिकी के 10 लाख रूपए, पर्यावरण के लिए 10 लाख रूपए, बेसिक शिक्षा विभाग के लिए 65.35 लाख रूपए, पर्यटन विभाग के लिए 210 लाख रूपए, माध्यमिक शिक्षा के लिए 635 लाख रूपए, पालीटेक्निक के लिए 158.99 लाख रूपए, प्रादेशिक विकास दल के लिए 6.40 लाख रूपए, परिवार कल्याण के लिए 50 लाख रूपए, एलोपैथिक चिकित्सा के लिए 200 लाख रूपए,आयुर्वेदिक युनानी के लिए 7 लाख रूपए, होम्योपैथिक के लिए 60 लाख रूपए, नगरीय पेयजल के 82 लाख रूपए, ग्रामीण पेयजल के 100 लाख रूपए, अनुसूचित जाति कल्याण के 232.60 लाख रूपए, पिछड़ा वर्ग कल्याण 4.73 लाख रूपए, अल्प संख्यक कल्याण के लिए 16.20 लाख रूपए, सामान्य जाति छात्रवृत्ति के लिए 742 लाख रूपए, औद्वौगिक प्रशिक्षण संस्थान के लिए 100 लाख रूपए, समाज कल्याण के लिए 1900 लाख रूपए, विकलांग कल्याण के लिए 111.20 लाख रूपए, महिला कल्याण के लिए 183.30 लाख रूपए, तथा सिंचाई एवं जल संसाधन कार्यक्रम के लिए 150 लाख रूपए सहित कुल 40672 लाख रूपए का परिव्यय अनुमोदित हुआ।
बैठक में जनप्रतिनिधियों की शिकायत पर प्रभारी मंत्री ने जिला अस्पताल व महिला अस्पताल में पिछले एक वर्ष के दौरान खरीदे गई दवाइयों, उपकरणों तथा अन्य सामानों की खरीद की जांच पांच सदस्यीय जिला स्तरीय समिति से कराने के आदेश दिए हैं। सांसद गोण्डा ने सदन में मांग की जिला अस्पताल में विगत एक वर्ष में जिला अस्पताल व महिला अस्पताल में हुई खरीद की जांच कराई कराई जाय। इसके अतिरिक्त सही सूचना न देने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाय। सदर विधायक द्वारा एम्बुलेन्स समय से न मिलने का मामला सदन के संज्ञान में लाया गया जिस पर सीएमओ को सख्त कार्यवाही की चेतावनी दी गई है। इसी प्रकार लघु सिंचाई विभाग द्वारा कराई गई बोरिंगों की जांच प्रत्येक ब्लाक के दो-दो गांवों में कराने हेतु टीम गइित करने, दुग्ध विकास विभाग द्वारा समितियों को दी गई धनराशि की जांच कराने के लिए टीम गइित करने, कूक नगर ग्रन्ट में वन विभाग की जमीन पर अवैध कब्जा हटवाए जाने, एलआएलएम द्वारा जनपद में गठित स्वयं सहायता समूहों की सूची जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध कराने, पंचायतीराज विभाग द्वारा बिना जनप्रतिनिधियों के प्रस्ताव के केसी ड्रेन्स का निर्माण कार्य कराए जाने की जांच कराने हेतु जिला स्तर पर कमेटी गठित करने एवं दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही करने के आदेश दिए गए हैं। ग्रामीण आवस योजना में पात्र लाभार्थियों को तृतीय किस्त अभी तक न जारी किए जाने पर गहरी नाराजगी व्यक्त की गई तथा सभी लाभार्थियों को दो दिन के अन्दर किस्त जारी करने के निर्देश दिए गए वहीं जिन अपात्रों ने लाभ ले लिया है उनसे 15 दिन के भीतर रिकबरी कराने तथा दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराकर जेंल भेजने के निर्देश दिए गए। जिले में संचालित 32 प्राइवेट आईटीआई कालेजों में छात्रा की संख्या की सूची भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। समाज कल्याण विभाग के तहत विभिन्न पेंशन योजनाओं के लम्बित आवेदनों को एक माह के भीतर निस्तारित कर पात्रों को पेंशन दिलाए जाने के भी आदेश दिए गए हैं। पर्यटन विभाग के तहत जनपद के सभी ऐतिहासिक एवं पौराणिक तथा पर्यटन के दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थलों को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने हेतु प्रस्ताव पर सर्वसम्मति से मुहर लगी। जनपद के चयनित 12 पर्यटन स्थलों को दो करोड़ दस लाख रूपए की लागत से विकसित किया जाएगा जिसमें महाराजा देवीबक्श सिंह स्मारक, पृृथ्वीनाथ मन्दिर, पतन्जलि की जन्मभूमि कोड़र, बाराही देवी मन्दिर, स्वामी नरायन छपिया मन्दिर, खैरा भवानी मन्दिर सहित जिले के तमाम ऐतिहासिक एवं पौराणिक स्थलों को पर्यटन के रूप में विकसित किया जाएगा।
बैठक में कैबिनेट मंत्री समाज कल्याण रामपति शास्त्री, जिला पंचायत अध्यक्षा केतकी सिंह, सांसद गोण्डा कीर्तिवर्धन सिंह, डीएम कैप्टेन प्रभांशु श्रीवास्तव, विधायक सदर प्रतीक भूषण सिंह, विधायक तरबगंज प्रेम नरायन पाण्उेय, विधायक मेहनौन विनय द्विवेदी, विधायक गौरा प्रभात वर्मा, विधायक कटरा बावन सिंह, सीडीओ अशोक कुुमार, एमएलसी रणविजय सिंह, सपा जिलाध्यक्ष महफूज खां, सांसद कैसरंगज प्रतिनिधि संजीव सिंह, विधायक शिक्षा क्षेत्र के प्रतिनिधि अजीत सिंह, विधायक प्रतिनिधि अजय सिंह, सांसद प्रतिनिधि राजेश सिंह, वेद प्रकाश दूबे सहित जिला योजना से सम्बन्धित सभी अधिकारी मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment