Thursday, July 5, 2018

गोरखपुर में सूरज ने बैडमिंटन प्रतियोगिता में जीत का झंडा किया बुलन्द

आदर्श दुबे की रिपोर्ट
गोरखपुर।खेल की दुनिया में गोरखपुर के एक होनहार  बालक ने राजधानी लखनऊ में आयोजित प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीतकर शहर का मान बढ़ाया है। पीएनबी मेटलाइफ के लखनऊ में चल रहे मैच में, आज फाइनल मैच गोरखपुर के सूरज यादव गोल्ड मेडल जीतकर गोरखपुर का नाम रोशन किया। यह प्रतियोगिता अंडर- 11 लेवल की थी जिसमें सूरज ने अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराते हुए इस खेल में अपना आगे का मार्ग प्रशस्त किया है।
सूरज गोरखपुर के रीजनल स्टेडियम में राजित श्रीवास्तव के संरक्षण में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहा है। वह 10 साल का है और महात्मा गांधी इंटर कॉलेज में कक्षा छठी का छात्र है बचपन से ही बैडमिंटन के खेल में रुचि रखने वाले सूरज के बारे में उसके पिता दुर्गेश यादव बताते हैं जब वह 3-4 साल का था तभी से बैडमिंटन में रुचि दिखाता था उसकी रुचि को देखते हुए मैंने उसे स्टेडियम तक पहुंचाया जहां उसके खेल से खेल प्रशिक्षक और स्टेडियम के अधिकारी बेहद प्रभावित हुए सूरज लगातार  अभ्यास करता रहा जिसका नतीजा कि वह स्कूल लेवल पर कई पदक जीता। लेकिन उसकी आज की जीत उसको खेल में आगे बढ़ने में बेहद मदद करेगी। मेटलाइफ का नेशनल स्तर का मैच दिल्ली में 9,10,11, अगस्त को खेला जाएगा।
सूरज ने सेमीफाइनल में बिहार के खिलाड़ी को हराकर फाइनल में जगह बनाया था। फाइनल में उत्तर प्रदेश के ही फैजाबाद निवासी सेन रेज कुमार चौरसिया को उन्होंने 15-12, और15- 8 से हराया। सूरज यादव दो भाई एक बहन हैं। बड़ी बहन अर्चना यादव प्रदेश स्तर की बैडमिंटन खिलाड़ी है तो भाई चंदन यादव राष्ट्रीय स्तर का बैडमिंटन प्लेयर हैं जो उत्तर प्रदेश का  प्रतिनिधित्व कर चुका है। सूरज घर मे सबसे छोटा है, लेकिन उसकी भी उपलब्धि पूरे घर को उम्मीद की रोशनी दे रही है । सूरज के पिता दुर्गेश यादव एक दैनिक अखबार के संघर्षशील पत्रकार हैं। जिन्होंने बच्चों की खेल प्रतिभा को उठाने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ा ।

No comments:

Post a Comment