Wednesday, August 15, 2018

देश भर में धूम धाम से मनाया गया स्वतन्त्रता दिवस देश भक्ति गीतों पर झूमे बच्चे बूढ़े और जवान

गोन्डा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी          गोन्डा जनपद में स्वन्त्रता दिवस मनाने की धूम रही  ।बरसात के बावजूद भी उत्साह कम नही हुआ ।सबसे अधिक उत्साह प्राइवेट शिक्षण संस्थाओं में सांस्कृतिक कार्यक्रमो की धूम रही है वही सरकारी विद्यालयो में केवल ध्वजारोपड़ तक ही कार्यक्रम सीमित रहा ।यहाँ एक बात निराश करती है जिस आजादी को पाने को लिए हमारे पूर्वजों ने अपने प्राणों की आहुति तक आहुति दे डाला ,आज हमारे पास स्वन्त्रता दिवस मनाने के लिए भी समय नही ।हम किस युग मे जी रहे है ।धीरे धीरे स्वन्त्रता दिवस के प्रति उदासीनता से बहुत निराश हुआ ।वही कुछ जगह पर स्वंत्रतादिवस के सांस्कृतिक कार्यक्रमो को देखकर मन हर्षित हुआ इसी क्रम ग्रामीण क्षेत्रो के विद्यालयों में स्वंत्रतादिवस के कार्यक्रमो में शिरकत करने का मौका मिला इसी क्रम में इटियाथोक विकास खंड के बसंतपुर राजा  स्थित राम राज मेमोरियल पब्लिक स्कूल में स्वन्त्रता दिवस के कार्यक्रम में शिरकत करने का मौके मिला ।वहाँ ग्रामीण क्षेत्र के बच्चो का देश के प्रति जज्बे को देख कर मन हर्षित हुआ ।जहाँ छोटे छोटे बच्चो ने सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से अपने अंदर के देश प्रेम  का प्रदर्सन किया ।इस विद्यालय के संथापक एस बी मिश्र के प्रयास है कि ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों के अंदर की प्रतिभाओं को निखारना है ।ग्रामीण क्षेत्रो में प्रतिभाओं की कमी नही है बस उसे प्लेटफार्म देने की जरूरत है ।वही सरकारी विद्यालयों की दशा व दिशा देखकर आत्मा दुखी हो गयी ।पहुचे ध्वजारोहण किया उसके बाद चलते बने ।वहाँ के बच्चो को मालूम नही स्वतंत्रादिवस क्या है और क्यो मनाया जाता है ।ऐसे विद्यालयो में पढ़ने वाले बच्चे भविष्य में क्या करेंगे सोच कर मन खिन्न हो जाता है वही शासन व प्रसाशन की नाकामी का पता चलता है ।सरकार ने शीघ्र ही इन विषयों पर ठोस कदम नही उठाया तो सरकारी विद्यालय खंडहर बन कर रह जाएंगे ।वही कई ऐसे प्रतिस्ठान है जहाँ केवल कोरम पूरा किया गया उनके पास देश की आजादी को मनाने के लिए भी समय नहीं है ।जिस देश मे रहते है उस देश से उनकी पहचान है वह सबकुछ मिलता जो उन्हें चाहिए उसके बाद उसका आदर सत्कार व इज्जत देने के लिए भी समय नही है ।ऐसे लोगो की वजह से ही हमारा देश इतने दिनों तक गुलाम रहा ।हम सब को विचार करने की जरूरत है हम और त्योहारों को बढ़ चढ़ कर मनाते है ।और अपने राष्ट्रीय पर्व मनाने के लिए मेरे पास समय नही है ।इस पर्व पर सभी देशवासियो को अपने आस पास ध्वजारोहण व राष्ट्रगान में अवश्य शामिल होना चाहिए ।बरसात के मौसम के बाद वे सुबह बारिस होने के बाद में पूरे जनपद में 15 अगस्त शांति पूर्ण ढंग से मनाने की जानकारी है ।वही जनपद मुख्यालय पर पुलिस लाइन परेड ग्राउंड में कार्यक्रम मनाने की जानकारी जहाँ पर पुलिस के सभी बलो ने अपने अपने हुनर दिखाए ।

No comments:

Post a Comment