Thursday, August 30, 2018

गोंडा जनपद में जिला पूर्ति विभाग के खेल निराले मेरे भईया

  गोन्डा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी         
जिला पूर्ति विभाग के खेल बहुत ही निराले है ।कुछ दिन पहले खाद्यान्न घोटाले व काला बाजारी जग जाहिर हुई जिसमें कुछ लोगों को नामित किया गया कुछ को पकड़ा गया व कुछ को पकड़ने की कोशिस हो रही है ।वही जब विभाग पर इस घोटाले की जिम्मेदारी तय की गई ।वही विभाग ने अपनी छवि सुधारने के लिए नए खेल कर रहा है बिना  किसी कारण के लोगो के यूनिट को काट दिया जाता जब कार्ड धारक रासन लेने जाता है तो वहाँ पता चलता उसकी यूनिट कटी है तो हैरान परेशान होता है फिर अपना आधार कार्ड लेकर विभाग के चक्कर लगाता है और पैसे खर्च करके अपना यूनिट जोड़वाता है ।वही तब भी उसे राशन नही मिलता है वहाँ उसे जानकारी मिलती है कि तीसरे माह उसे राशन मिलेगा इस तरह दो माह का राशन गायब हो जाता जिसे कोटेदार व विभाग मिलकर खा जाते है ऐसे में कार्डधारक की इसमें क्या गलती है बिना गलती के उसे दंड दिया जाता है ।वही इस बारे में कोटेदारो का कहना है कि जिला पूर्ति बिभाग के द्वारा जो राशन घोटाले हुए उसकी प्रति पूर्ति करो ।यह नया तरीका निकाला है इस विभाग ने ।इसे  कार्यप्रणाली की हकीकत का पता चलता है ।गोन्डा जनपद में राशन प्रणाली को सुधारना बहुत ही मुश्किल है ।यहाँ राशन माफिया ,सफेदपोश ,व पूर्ति विभाग का मजबूत जोड़ है इसे तोड़ना किसी भी सरकार के बस की बात नही ।अब ऐसे में बेचारे आम जन मानस का क्या दोष जिसे परेसान व प्रताड़ित करना किसी भी दृष्टि से न्यायोचित नही है ।ऐसे में सरकार के दावे की हवा निकल रही है ।

No comments:

Post a Comment