Wednesday, August 8, 2018

भूमाफियाओं की निगाहो से बचती नही जमीन

गोन्डा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी         गोन्डा जनपद में जमीन के मामलों की संख्या बढ़ती जा रही है ।वही भूमाफियाओ बढ़ते जा रहे है ।चाहे सरकारी जमीन हो या निजी भूमि इनकी निगाहें उस जमीन की जरूरत के हिसाब से निगाहे लगी रहती उसे कैसे हासिल किया जाय उसके लिए साम दाम दंड भेद सब कुछ लगा देने में कोई गुरेज नही समझते है ।उसमें वे नेताओ ,पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियो के गठजोड़ इतना मजबूत है के उसके आगे आम आदमी की कोई सुनवाही नही हो रही है ।योगी सरकार ने इसके लिए भूमाफियाओ की लिस्ट तैयार कर भूमाफिया पोर्टल पर डालने व उनके ऊपर कारवाही करने का आदेश दे रखा है ।लेकिन जनपद में भूमाफिया की लिस्ट कही अपडेट नही और न ही किसी भूमाफिया पर कार्यवाही नही होने से भूमाफियाओ के हौसले बुलंद है कि उनकी निगाह जिस जमीन पर लग जाती है उसे वे हासिल करके ही रहते है चाहे उसे जमीन मालिक खुसी से दे अगर खुसी से नही देता तो ऐसा माहौल पैदा कर देते है कि आदमी मजबूर होकर औने पौने में जमीन बेच कर अपनी जान माल बचा रहा है ।मै योगी सरकार की कोई बुराई नही कर रहा हूं बल्कि सच्चाई से अवगत करा रहा हूं कि गोन्डा जनपद में इस तरह का खेल चल रहा है जिसमे जनप्रतिनिधि,पुलिस ,राजस्व विभाग ,व प्रसासनिक अधिकारी की मिली भगत से हो रहा है ।इससे आम जन मानस में सरकार की छवि खराब हो रही है ।जिसकी एक घटना का जिक्र मैं कर रहा हूं थाना कोतवाली इटियाथोक का जहाँ पर भूमाफिया इस कदर हावी है कि सरकारी जमीनों पर तो अवैध तरीके से कब्जे होने के साथ कुछ निजी जमीनों पर अवैध तरीके से कब्जे कर रहे रास्ते पर कब्जो की भरमार है जिसकी शिकायत करने वाले लोगो पर ही कार्यवाही कर दी जाती है इसी डर से लोग शिकायत लोग नही कर रहे है  ।ऐसी ही कुछ माफिया सुनील, सुरेश ,सुशील व उनके संरक्षण के तौर पर ग्राम प्रधान प्रतिनिधि राजेश दुबे के गुर्गे आम जन मानस के जमीनों पर खुलेआम कब्जा करने का प्रयास कर रहे जिससे आम जन मानस की सुनवाही नही हो रही है ।जिससे आम जन मानस में सरकार की छवि खराब हो रही है ।यदि सरकार ईमानदारी से भूमाफिया ओ पर शिकंजा कसना चाहती है और आम जन मानस के दिलो पर राज करना चाहती है तो भूमाफियायो के खिलाफ दंडात्मक कारवाही सुनिश्चित करे ।क्योकि कुछ भूमाफियाओ के वोट से सरकार बनती विगड़ती है सरकार बनती विगड़ती आम जन मानस के वोट देने से ।सरकार को अपनी प्रतिबद्धता व वादों पर खरा उतरकर ही अपनी साथर्कता सिद्ध करनी होगी जिससे आने वाले चुनावों में इसका फायदा लिया जा सका अब सरकार को सोचना होगा कि वह भूमाफियाओ का साथ दे या उनपर कारवाही करे ।

No comments:

Post a Comment