Thursday, August 9, 2018

आज भी जिंदा है इन्शानियत और ईमानदारी

दिलीपपुर/ प्रतापगढ़

जनपद प्रतापगढ के करनपुर मोहल्ला निवासी  स्कन्द स्वरूप त्रिपाठी कचेहरी प्रतापगढ मे अधिवक्ता  हैं । इनके पिता रामचन्द्र त्रिपाठी किसी काम से इण्टरसिटी एक्सप्रेस से लखनऊ जा रहे थे । अन्तू रेलवे स्टेशन पर अचानक उनका मोबाइल ट्रेन से बाहर गिर गया. उन्होने किसी से मदद लेकर उसकी मोबाइल से अपने अधिवक्ता पुत्र को मोबाइल ट्रेन से गिर जाने की जानकारी दी। अधिवक्ता ने कई बार पिता के मोबाइल पर काल करने का प्रयास किया लेकिन हर बार मोबाइल बन्द बताता । अधिवक्ता मित्रो के साथ कचेहरी प्रतापगढ़ में बैठे थे तभी  लगभग 12•55 बजे उसी  नम्बर से मिस कॉल का मैसेज आया अधिवक्ता ने तुरंत कॉल बैक किया तो एक सज्जन ने फोन उठाया उन्होने अपना परिचय  शैलेश प्रजापति असिस्टेन्ट लोको पायलट के रूप मे देते हुए बताया कि ये फोन अंतू रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नं 2 पर घास मे गिरा मिला ।उन्होने प्रतापगढ रेलवे स्टेशन पहुंचकर मोबाइल लेने के लिए अधिवक्ता को बुलाया ।जहां पहुंचकर मोबाइल प्राप्त कर खुशी जाहिर करते हुए  असिस्टेन्ट चालक शैलेश का आभार व्यक्त किया ।

No comments:

Post a Comment