Sunday, September 9, 2018

उत्तर प्रदेश में त्योहारों पर खलल डालने वालों पर लगेगा रासुका

गोन्डा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
आगामी त्योहारों को सकुशल सम्पन्न कराने में खलल डालने तथा आपसी सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश करने वालों को डीएम कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव व एसपी लल्लन सिंह ने खुली चेतावनी दी है तथा सम्भ्रान्तजनों व अमनचैन पसन्द लोगों से अपील किया है कि वे सब सभी धर्मों के त्योहारों को सौहार्दपूर्ण माहौल में सम्पन्न कराने में अपना सहयोग प्रदान करें।
शनिवार को जिलाधिकारी कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव की अध्यक्षता में जिला पंचायत सभागार में कजरीतीज, गणेश उत्सव व प्रतिमा विसर्जन तथा मुहर्रम जुलूसों को सम्पन्न कराने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों , विभिन्न कमेटियों व नगर के मानिन्द जनों के साथ बैठक कर रणनीति बनाई। डीएम व एसपी ने बैठक में स्पष्ट चेतावनी दी है कि त्योहारों में खलल डालने वाले तथा माहौल खराब करने वाले लोगों के खिलाफ रासुका की कार्यवाही की जाएगी तथा किसी भी दशा में किसी भी व्यक्ति को कानून से खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा। डीएम ने कहा कि हम से एक ही बिगिया के भिन्न भिन्न रंगों के फूल हैं इसलिए हम सबको एक दूसरे के धर्मों का आदर करना चाहिए तथा सभी त्योहारों को मिलजुल कर सौहार्द के साथ मनाना चाहिए। शांति कमेटी की बैठक में 12 सितम्बर को कजरीतीज के अवसर गोण्डा नगर के बाबा दुःखहरणनाथ मन्दिर तथा खरगूपुर क्षेत्र के पौराणिक पृथ्वीनाथ मन्दिर सहित अन्य शिवालयों में  सरयू घाट करनैलगंज से पवित्र जल लेकर जलाभिषेक के लिए जाने वाले कावड़ियों की सुरक्षा सहित तमाम आवश्यक विषयों पर लोगों से सुझााव मांगे गए। पत्रकार अंकुर गर्ग द्वारा विगत वर्षों में जुलूसों के दौरान वालेन्टियर्स का काम कर चुकी महाकाल संस्था के भंग होने के कारण सभी समुदायों की एक संयुक्त वालेन्टियर्स टीम बनाने का सुझाव दिया गया। लोगों को द्वारा बताई गई समस्याओं तथा सुझावों पर तत्काल अमल कर उन्हें ससमय दूर करने के आदेश जिम्मेदार विभागीय अधिकारियों को दिए गए। जिलाधिकारी ने बताया कि इस बार श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए एसडीआरएफ की टीम दोनों मन्दिरों पर लगाई जाएगी तथा दोनों मन्दिरों पर चैबीस घन्टे सीसरटीवी कैमरों से निगरान की जाएगी। जिलाधिकारी ने यह भी बताया कि इस बार दुःखहरणनाथ मन्दिर से दोनो तरफ दो-दो सौ मीटर की दूरी तक कोई भी दुकान या मेला नहीं लगने दिया जाएगा इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा अदम गोण्डवी मैदान में व्यवस्था की जा रही है जंहा पर दुकानें व मेला लग सकेगा। पुलस अधीक्षक लल्लन सिंह ने कहा कि चेन स्नेचिंग की घटनाओं को रोकने के लिए बाहर के जनपदों से आने वाली महिलाओं को चिन्हित करने के साथ स्थानीय चेन स्नेचर्स की सूची तैयार कराई जा रही तथा श्रद्धालुओं के बीच महिला पुलिस व पुलिस के जवानों को सादी वर्दी में तैनात किया जाएगा जा ऐसे लोगों पर पैनी नजर रखेगें। इसके अलावा 11 सितम्बर से लेकर 13 सितम्बर तक कावड़ियों के मार्गों में पडन्े वाली सभी मांस व मछली की दुकानें अनिवार्य रूप से बन्द रहेगीं। सीएमओ को निर्देश दिया गया कि इमरेजन्सी सेवाओं के लिए सभी रूटों पर स्वास्थ्य शिविर लगवाएंगें तथा जिला अस्पताल में चैबीस घन्टे कुशल डाक्टरों की ड्यूटी लगाकर किसी भी आपात स्थिति से निपटने व राहत पहुंचाने का बेहतर से बेहतर प्रबन्ध कराएं। सड़कों के बारे में एक्सईएन पीडब्लूडी व एक्सईएन आरईएस को सख्त चेतावनी दी कि बताए गए मार्गों को दी गई समय सीमा के अन्दर श्रद्धालुओं के चलने लायक हर हाल में बना दें। जिलाधिकारी ने कजरीतीज पर्व को शांतिपूर्ण और सकुशल सम्पन्न कराने के लिए 24 स्टेटिक मजिस्ट्रेटों की डयूटी 8-8 घन्टे की शिफ्ट में लगाई गई। पीस कमेटी की बैठक के बाद डीएम व एसपी ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ एलबीएस चैराहे से लेकर बाबा दुःखहरणनाथ मन्दिर तक पैदल चलकर सुरक्षा तैयारियों को देखा तथा अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए।इस दौरान पुलिस अधीक्षक लल्लन सिंह, एडीएम रत्नाकर मिश्र, एएसपी हृदेश कुमार, नगर मजिस्ट्रेट सुभाषचन्द्र प्रजापति, सभी एसडीएम व सीओ, थानाध्यक्षगण, अपराध निरोधक समिति के पदाधिकारी, पृथ्वीनाथ मन्दिर व दुःखहरणनाथ मन्दिर के महन्त, मोहर्रम कमेटी व रामलीला कमेटी के पदाधिकारी, अन्य विभागीय अधिकारी व नगर के सम्भ्रान्तजन उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment