Saturday, September 29, 2018

लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ डीएम ने की कार्यवाई

गोन्डा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
बेसिक शिक्षा विभाग में पंजीकरण के सापेक्ष प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति न बढ़ने तथा इस सम्बन्ध में विगत माह डीएम के निर्देश के बावजूद खण्ड शिक्षा अधिकारियों द्वारा स्कूलों का निरीक्षण कर फोटोयुक्त रिपोर्ट न देने पर डीएम कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव ने खण्ड शिक्षा अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए चार खण्ड शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की है।
कलेक्ट्रेट सभागार में कस्तूरगा गांधी विद्यालयों की समीक्षा के दौरान डीएम ने बेसिक शिक्षा विभाग में उनके निर्देश के बावजूद प्रगति न होने पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए खण्ड शिक्षा अधिकारी करनैलगंज अनिल कुमार झा व एबीएसए बेलसर डी0के0 मौर्य को चेतावनी, एबीएसए को बभनजोत अर्जुन वर्मा को परिनिन्दा तथा एबीएसए वजीरगंज आनन्द प्रताप सिंह को प्रतिकूल प्रविष्टि दी है। बताते चलंे कि पिछले महीने जिलाधिकारी कैप्टन प्रभान्शु श्रीवास्तव ने स्वयं प्राथमिक विद्यालयों को औचक निरीक्षण किया था जिसमें स्कूलों में पंजीकरण के सापेक्ष पचास प्रतिशत से भी कम उपस्थिति पाई गई थी। डीएम ने सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को आदेया दिए थे कि वे सब अपने-अपने शिक्षाक्षेत्रों के विद्यालयों का निरीक्षण पंजीकरण कर फोटोयुक्त रिपोर्ट उन्हेे दे दें जिससे उपस्थिति के सापेक्ष अध्यापकों की तैनाती कर सरप्लस अध्यापकों को हटाया जाय परन्तु डीएम के आदेश के बावजूद ज्यादातर खण्ड शिक्षा अधिकारियों ने आपेक्षित निरीक्षण न कर सिर्फ कुछ स्कूलों का निरीक्षण किया। लापरवाही से नाराज डीएम ने बैठक में खण्ड शिक्षा अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई और निर्देश दिए कि पंजीकरण के सापेक्ष उपस्थिति की रिपोर्ट उन्हें अतिशीघ्र उपलब्ध करा दें अन्यथा कठोर कार्यवाही की जाएगी। प्राइमरी स्कूलों में बच्चों की घटती संख्या पर डीएम ने सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि सिर्फ आंकड़ों में पंजीकरण दिखाकर फील्ड में न जाने वाले व सुधार न करने वाले अधिकारी अब चेत जाएं वरना उनके द्वारा सख्त एक्शन लिया जाएगा। इसके अलावा जिले के सभी कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में बच्चियों की संख्या बढ़ाने के लिए गांवों में जाकर अभिभावकों से बात करके उन्हें प्रेरित कर बच्चियों का दाखिला कराने के निर्देश दिए। स्वास्थ्य सेवाओं के लिए सभी कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में मेडिकल कैम्प लगाकर बच्चियों का स्वास्थ्य परीक्षण कराने के लिए रोस्टर जारी करने के आदेश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिए हैं। पुराने कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में शौचालय आदि की व्यवसथा सभी मरम्मत के कार्य कराने व जिले के सभी स्कूलों की मरम्मत के लिए तत्काल धन निर्गत करने के आदेश सहायक वित्त एवं लेखाअधिकारी को दिए हैं। डीएम ने निर्देश दिए कि दीपावली के त्योहार तक जिले के सभी प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों की मरम्मत व रंगाई-पुताई का कार्य पूरा करा दिया जाय।
बैठक में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी मनीराम सिंह, सहायक वित्त एवं लेखाधिकारी रमेशचन्द्र चैबे, कस्तूरबा की जिला समन्वयक रजनी श्रीवास्तव, सभी खण्ड शिक्षा अधिकारीगण, कस्तूरबा की वार्डेन, लेखाकार व अध्यापिकाएं उपस्थित रहीं।

No comments:

Post a Comment