Tuesday, September 18, 2018

झूंठी शान की खातिर दो प्यार करने वालो को

तेलंगाना में झूठी शान के लिए एक और शख्स की हत्या कर दी गई. मामला नालगोंडा जिले का है. जहां 23 साल के एक शख्स की उसकी प्रेग्नेंट बीवी के सामने हत्या कर दी गई. इस घटना के विरोध में लोगों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया है. पति-पत्नी जिले के मिरयालागुडा के एक अस्पताल से डॉक्टर को दिखाकर लौट रहे थे.तभी पीछे से एक व्यक्ति ने धारदार हथियार से प्रणय की गर्दन वार कर दिया. जिससे प्रणय की मौके पर ही मौत हो गई. बताया जा रहा है कि प्रणय और अमृता ने इसी साल 31 जनवरी को लव मैरिज की थी. जिससे दोनों के परिवार नाराज थे. हालांकि प्रणय के परिवार ने बाद में दोनों को अपना लिया. लेकिन अमृता के परिवार वाले अभी भी नाराज चल रहे थे.हत्या की पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई. इसमें साफ देखा जा सकता है कि प्रणय कुमार अपनी 21 वर्षीय पत्नी अमृता वार्षिणी के साथ एक अस्पताल से बाहर निकल रहे हैं. इसी दौरान एक व्यक्ति पीछे से प्रणय पर कुल्हाड़ी से हमला कर देता है. वह ताबड़तोड़ वार करता है. जिससे प्रणय की मौत हो जाती हैघटना के बाद प्रणय की पत्नी अमृता सदमे से गिर गईं और उन्हें अस्पताल ले जाया गया. बाद में उन्होंने पुलिस को बताया कि उन्हें शक है कि उनके पिता और चाचा ने ही उनके पति की हत्या करवाई है. क्योंकि प्रणय दूसरी जाति से थे और वे लोग शुरू से ही उसकी शादी का विरोध कर रहे थे.साथ ही उनपर अबॉर्शन के लिए भी दबाव बना रहे थे, लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इंकार कर दिया. अमृता के मुताबिक, प्रणय बहुत अच्छे इंसान थे. वह उनकी बहुत अच्छे से देखभाल करते थे, खासकर प्रेग्नेंट होने के बाद बहुत ध्यान रखते थे. अमृता कहती हैं कि मुझे नहीं पता कि इस दौर में भी जाति इतनी महत्वपूर्ण क्यों है?
इस मामले में पुलिस ने अमृता के पिता मारुति राव और चाचा श्रवण को गिरफ्तार कर लिया है. मारुति राव व्यापारी हैं. बता दें कि प्रणय और अमृता स्कूल के दिनों से ही एक दूसरे को जानते थे. दोनों के परिवार ही उनकी शादी का लगातार विरोध कर रहे थे, क्योंकि प्रणय अनुसूचित जाति से थे और अमृता वैश्य जाति से हैं.

No comments:

Post a Comment