Tuesday, October 2, 2018

रायबरेली में उत्तरप्रदेश उद्योग व्यापार मंडल ने दिया दिया उपजिलाधिकारी को ज्ञापन

उ0प्र0 उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल रायबरेली का एक प्रतिनिधि मण्डल प्रान्तीय उपाध्यक्ष बसन्त सिंह बग्गा की अगुवाई में जमकर नारेबाजी करते हुए उपजिलाधिकारी सलोन आशीष कुमार सिंह के कार्यालय का घेराव कर ज्ञापन दिया।  ज्ञापन में कहा गया कि सूची ग्राम सभा के अन्तर्गत वाणिज्यिक कनेक्शन के नाम पर व्यापारियों का उत्पीड़न किया जा रहा है।   घरेलू, कनेक्शन है, परन्तु सड़क पर गाँव होने के कारण छोटे-छोटे दुकानदारों ने अपनी आजीविका चलाने हेतु चाय, पान, पुड़िया आदि की दुकानें खोल रखी हैं, विद्युत विभाग बिना किसी प्रचार-प्रसार के छोटे-छोटे दुकानदार जो अपनी आजीविका चलाने के लिए घरो में ही दुकान खोल कर अपना व परिवार का पेट पालते हैं, उनको कार्मशियल मानते हुए असेसमेन्ट बिल की नोटिस तामील कर दी है, यहाँ तक कि किसी का एक किलो वाट का सीलिंग सर्टीफिकेट है और दो किलोवोट का मानकर बिल व नोटिस भेजी गयी । विभाग की इस दमनात्मक कार्यशैली से व्यापारी समाज में रोष है और वह खौफजदा है।  
प्रान्तीय संगठन मन्त्री मुकेश रस्तोगी ने कहा कि यदि विभाग द्वारा व्यापारियों को तामील की गयी नोटिस वापस नहीं ली गयी तो व्यापार मण्डल सड़कों पर उतरकर संघर्ष करने को मजबूर होगा। 
हरचन्दपुर महामन्त्री मुन्ना पाण्डेय ने कहा कि बिजली विभाग जनता के सब्र का इम्तिहान मत ले, रोजना विभिन्न क्षेत्रों में तकनीकी खमियों की वजह से जिस प्रकार बिजली गुल हो रही है, उससे आम जनमानस के साथ व्यापारियों का व्यापार भी प्रभावित होता है, विभाग इसकी तरफ ध्यान न देकर व्यापारियों का उत्पीड़न करने में मस्त हैं। 
उपजिलाधिकारी सलोन ने प्रकरण को गम्भीरता से लेते हुए अविलम्ब निराकरण करने का आश्वासन दिया। 
इस अवसर पर मुख्य रूप से अशोक कुमार चैरसिया, दिनेश शंकल शुक्ला, राम कुमार कौशल, जितेन्द्र मिश्रा, सतीश कुमार, रज्जन अहमद, नीलेश, लल्लू प्रसाद मौर्य, बबलू, राधेश्याम, रज्जन यादव, रजोन्द्र, लल्लन, मनोज मिश्रा आदि व्यापारी उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment