Sunday, October 28, 2018

सर्वे सीबीआई विवाद के बाद घटी बीजेपी की साख

देश की सर्वोच्च जांच एजेंसी सीबीआई में घूसकांड और केंद्र सरकार द्वारा सीबीआई डायरेक्टर और स्पेशल डायरेक्टर को जबरन छुट्टी पर भेजने के मामले ने राजनीतिक विवाद का रूप ले लिया है। मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस जहां केंद्र सरकार के खिलाफ देशभर में सीबीआई दफ्तरों के सामने विरोध-प्रदर्शन कर रही है, वहीं मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच चुका है।अंदेशा जताया जा रहा है कि इस विवाद की आंच आगामी विधान सभा चुनावों में भी दिखाई दे सकती है। एबीपी न्यूज और सी वोटर ने तीन चुनावी राज्यों में इसी को ध्यान में रखते हुए सर्वे किया है कि क्या सीबीआई विवाद का असर भाजपा के वोट बैंक पर पड़ सकता है? सर्वे के मुताबिक मध्य प्रदेश के 43 फीसदी लोगों का मानना है कि इससे भाजपा को नुकसान पहुंचेगा जबकि 39 फीसदी लोगों का मानना है कि इससे भाजपा के वोट शेयर पर कोई असर नहीं पड़ेगा।सर्वे के मुताबिक 230 सदस्यों वाली एमपी विधान सभा में बीजेपी को 38 फीसदी वोट मिल सकते हैं जबकि कांग्रेस को 42 फीसदी वोट मिलने का अनुमान जताया गया है। सर्वे में अन्य दलों को 11 फीसदी वोट मिलता हुआ बताया गया है। दो चुनावी विशेषज्ञों ने इन वोट परसेंटेज को सीटों में बदला है। अनुज गुप्ता के मुताबिक इन वोटिंग परसेन्टेज के मुताबिक भाजपा को 38, कांग्रेस को 132 और अन्य को 18 सीटें मिल सकती हैं। दूसरे विशेषज्ञ धनंजय जोशी के मुताबिक भाजपा के खाते में 75 और कांग्रेस के खाते में 146 सीटें जा सकती हैं। अन्य को 09 सीटें मिलती हुई बताया गया है। सर्वे में पिछले चार दिनों के वोटिंग ट्रेंड को भी दिखाया गया है। इसके मुताबिक तीन दिनों में भाजपा के वोट परसेन्टेज में तीन फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है, जबकि कांग्रेस की स्थिति जस की तस बनी हुई है।सर्वे के मुताबिक 22 अक्टूबर को भाजपा को 41 फीसदी, 23 अक्टूबर को 41 फीसदी, 24 अक्टूबर को 39 फीसदी और 25 अक्टूबर को 38 फीसदी वोट मिलता हुआ दिखाया गया है जबकि कांग्रेस को 22 अक्टूबर को 43 फीसदी, 23 अक्टूबर को 42.5 फीसदी, 24 अक्टूबर को 42 फीसदी और 25 अक्टूबर को भी 42 फीसदी वोट मिलता हुआ दिखाया गया है। सर्वे में बेहतर मुख्यमंत्री को लेकर भी आंकड़े जारी किए गए हैं। सर्वे के मुताबिक शिवराज सिंह चौहान की लोकप्रियता में कमी आई है। उन्हें मात्र 35 फीसदी लोगों ने सीएम पद की पसंद माना है, जबकि कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को सबसे ज्यादा 42 फीसदी लोगों ने सीएम पद के लिए बेहतर उम्मीदवार माना है। एमपी कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ को मात्र 05 फीसदी लोगों ने ही सीएम के रूप में अपनी पसंद बताया है। बता दें कि 230 सदस्यों वाली एमपी विधान सभा के लिए 28 नवंबर को वोट डाले जाएंगे। चुनावी नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे।

No comments:

Post a Comment