Wednesday, October 31, 2018

सोशल मीडिया के जरिये फैलता कालगर्ल का जल

छत्तीसगढ़ की राजधानी के पॉश कॉलोनी देवेंद्र नगर में हाइप्रोफाइल सेक्स रैकेट चल रहा था। दो महिला दलालों ने वॉट्सएेप गु्रप बनाया था, जिसमें हर प्रदेश की कॉलगर्ल जुड़ी थी। वॉट्सएेप के जरिए बुकिंग होती थी। इसके बाद संबंधित प्रदेश की कॉलगर्ल रायपुर आती थी और दलाल के घर देवेंद्र नगर में ठहरती थी।यहां से उन्हें ग्राहक के पास भेजा जाता था। पुलिस ने देवेंद्र नगर और सड्ढू में छापा मारकर एक युवक, दो महिला दलाल और दो कॉलगर्ल को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के खिलाफ पीटा एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है।पुलिस के मुताबिक लंबे समय से देहव्यापार करा रही दो महिलाओं ने पॉश कॉलोनी देवेंद्र नगर में मकान किराए पर ले रखा था और देहव्यापार के लिए अलग-अलग राज्यों से कॉलगर्ल बुलाती थी। इसमें दुर्ग के डिपरापारा निवासी दुर्गेश महिपाल छत्री उनकी मदद करता था। दुर्गेश ने सड्ढू के सेक्टर-८ में किराए से मकान ले रखा था। जो कॉलगर्ल दूसरे राज्य से आती थी, तो उन्हें महिला दलाल देवेंद्र नगर में ठहराती थी और ग्राहक से सौदा होने के बाद कॉलगर्ल को सड्ढू में दुर्गेश के पास भेजती थी। दुर्गेश ग्राहक को कॉलगर्ल के साथ ही कमरा भी उपलब्ध कराता था।इसकी जानकारी मिलने पर विधानसभा पुलिस ने सड्ढू के सेक्टर-८ में छापा मारा। दुर्गेश और दो कॉलगर्ल को पकड़ा। उनकी निशानदेही पर देवेंद्र नगर से दो महिला दलालों को पकड़ा गया। सभी के खिलाफ पीटा एक्ट की कार्रवाई की गई है। पकड़ी गई कॉलगर्ल कोलकाता की है।हर 15 दिन में आती थी दूसरी लडक़ी- महिला दलाल हर 15 दिन में दूसरी लड़कियां बुलाती थी। पूरा कारोबार रायपुर की एक पुरानी महिला दलाल के इशारे पर चल रहा था। पुलिस उसकी तलाश में लगी थी, लेकिन वह फरार हो गई। महिला दलाल भाठागांव इलाके में लंबे समय से सक्रिय थी। महिला दलालों ने वॉट्सएेप गु्रप बना रखा था। इसके माध्यम से ग्राहकों को कॉलगर्ल की फोटो भेजते थे।

No comments:

Post a Comment