Wednesday, October 24, 2018

आतंकी संगठन के चंगुल से बचकर निकली लैला की जुबानी

नयी दिल्ली। आतंकी संगठन आईएसआईएस के चंगुल से बच निकलने वाली पीड़ित लैला तालो खुधेर अली ने अपने साथ हुए अत्याचारों की दिल दहला देने वाली कहानी सुनाई है। मुंबई के प्रेस क्लब में जब वह अपना दर्द बयां कर रही थीं तो वहां मौजूद लोगों में कइयों की आंखें दरिंदगी की इस दास्तां पर नम हो आई थीं।
लैला तालो ने बताया कि आईएसआईएस ने अलग-अलग देशों में 9 बार मुझे खरीद-बेचकर मेरा यौन शोषण किया।मेरे पुलिस अफसर पति अब भी आईएसआईएस की कैद में हैं। मैं किसी तरह एक शिविर में बिना किसी मदद के जीवन काट रही हूं। संयुक्त राष्ट्र समेत कोई मेरी सहायता को नहीं आ रहा।
लैला ने यह भी बताया कि कैसे उन जैसी और भी यजीदी महिलाओं की इंटरनेट पर खरीद-बिक्री होती है। इराक के कुर्दिस्तान इलाके के एक गांव में अपने पति और दो बच्चों के साथ वह रह रही थीं। इस बीच आईएसआईएस का हमला हुआ और उनकी और उन जैसी दूसरी महिलाओं की जिंदगी नरक बन गई।
लैला ने बताया कि 2 साल, 8 महीने और 9 दिन की अवधि में उन्हें सेक्स स्लेव बना कर करीब 9 बार अलग-अलग देशों में बेचा गया। इसमें इराक, बगदाद और सऊदी अरब शामिल हैं। उन्होंने बताया कि उनकी तरह ही बड़ी संख्या में महिलाएं हैं जिनकी जिंदगी आईएसआईएस के चंगुल में फंसकर नरक बनी हुई है।

No comments:

Post a Comment