Monday, October 29, 2018

राजस्थान चुनावों को लेकर आम आदमी पार्टी का घोषणा पत्र जारी

जयपुर में आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज रविवार को जयपुर में रामलीला मैदान में आयोजित जनसभा के दौरान आम आदमी पार्टी का चुनाव घोषणा पत्र जारी किया। बदली है दिल्ली, अब बदलेंगे राजस्थान के मूलमंत्र के साथ जारी इस घोषणा पत्र में दिल्ली की तरह राजस्थान में बदलाव के लिए कई अहम वादें किए गए हैं।यह चुनाव घोषणा पत्र आम आदमी ने अपने लिए तैयार किया है। घोषणा पत्र में उन मुद्दों को शामिल किया गया है जो जनता ने सुझाए हैं। राजस्थान में सरकार बनने के बाद इस घोषणा पत्र को प्रभावी ढंग से लागू किया जाएगा। अन्य राजनीतिक दलों की तरह पुराने किसी घोषणा पत्र को रिवाइज नहीं किया। यह थोपा हुआ घोषणा पत्र नहीं है।
आम आदमी पार्टी का दावा है कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने जो काम किए हैं उनकी सराहना देश—विदेश में हो रही हैं। विपरीत परिस्थितियों के बावजूद दिल्ली में जबरदस्त काम हुआ है। वैसा ही बदलाव राजस्थान में होगा। राजस्थान में भ्रष्टाचार मुक्त सरकार के वादे के साथ सभी योजनाओं की समीक्षा कर उनमें सुधार करने की बात इस घोषणा पत्र में कही गई है। इन योजनाओं में व्याप्त भ्रष्टाचार को समाप्त किया जाएगा। घोषणा पत्र में फोकस मुख्य रुप से शिक्षा, स्वास्थ्य, किसान और जवान को किया गया है।
राजस्थान में शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए दिल्ली मॉडल अपनाया जाएगा। राजस्थान के सभी सरकारी अस्पतालों में अस्पतालों और चिकित्सालयों मुफ्त दवाइयां, मुफ्त लैब-टेस्ट, मुफ्त इमेजिंग टेस्ट (X-Ray, Ultrasound, CT आदि) और मुफ्त ऑपरेशन की सुविधा शुरू की जाएगी। दिल्ली की तर्ज़ पर प्राइवेट अस्पतालों में मुफ्त इलाज मिलेगा। दिल्ली में सरकारी अस्पतालों में यदि इलाज में समय अधिक लगता तो मुफ्त दवा, लैब टेस्ट, इमेजिंग टेस्ट और आॅपरेशन की सुविधाएं सरकार द्वारा अधिकृत निजी अस्पतालों (Private Hospitals) में मुफ्त प्राप्त की जा सकती है। यह व्यवस्था राजस्थान में भी लागू होगी। इसका उद्देश्य मरीज को बिना किसी परेशानी के समय पर इलाज उपलब्ध कराना है। प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाओं के तहत राजस्थान के हर क्षेत्र में मोहल्ला क्लिनिक खोले जाएंगे।
इसी तरह शिक्षा के क्षेत्र में सुधार होंगे। निजी स्कूलो में ज्यादा फीस वसूलने पर अंकुश लगाया जाएगा और वसूली गई अधिक फीस को ब्याज के साथ अभिभावकों को वापस दिलवाई जाएगी। सरकारी स्कूलों की दशा सुधारी जाएगी। इनमें पढ़ाई के अनुकूल माहौल बनाया जाएगा।
राजस्थान में किसान राज स्थापना की जाएगी। किसानों को उनकी फसल का लागत मूल्य दिलवाने के साथ मुनाफा भी दिलवाया जाएगा। इसके लिए किसानों की सुनिश्चित आय और मूल्य का अधिकार कानून पास किया जाएगा। समर्थन मूल्य का निर्धारण करने की प्रक्रिया बदलेगी और उसमें फसल की लागत का 50 फीसदी लाभांश अतिरिक्त रूप से जोड़ा जाएगा। किसानों को 12 घंटे बिजली रियायती दर पर उपलब्ध कराई जाएगी। सोलर एनर्जी को बढ़ावा दिया जाएगा और किसानों को शत प्रतिशत ब्याजमुक्त लोन उपलब्ध कराया जाएगा।
नई प्रभावी फसल बीमा योजना लागू होगी। इसका आधार खेत होगा और फसल का नुकसान होने पर उसका आकलन किसान की मौजूदगी में होगा। तीन दिन में आकलन पूरा करने के बाद सात दिन में किसान को उसके क्लेम राशि के भुगतान की व्यवस्था की जाएगी।युवाओं के लिए राजस्थान में रोजगार के अवसर बढ़ाने और उन्हें पढ़ाई तथा बिजनेस के लिए रियायती दर पर लोन सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। दिल्ली की तरह सरकारी सेवाओं की डोर स्टेप डिलेवरी राजस्थान में भी शुरू करके भ्रष्टाचार मुक्त शासन स्थापित करने का भी वादा किया गया है।

No comments:

Post a Comment