Thursday, November 1, 2018

कृषि यंत्रों पर अनुदान लेने के लिए किसान 6 नवम्बर तक अपलोड कराएं बिल

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
सरकार द्वारा रबी की बुआई के पहले किसानों को बड़ा गिफ्ट मिलने जा रहा है। ऐसे किसान जो आधुनिक कृषि यंत्र लेना चाहते हों उन्हें कृषि यंत्रों पर बड़ा अनुदान आसानी से और जल्द से जल्द मिल जाएगा। जिलाधिकारी कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव ने बताया कि राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के निर्देशन में भारत सराकार द्वारा फसल अवशेष न जलाने की योजना के तहत किसानों को एक या दो यंत्र खरीद करने पर पचास प्रतिशत की छूट तथा तीन कृषि यंत्र खरीदने पर सीधे अस्सी प्रतिशत का अनुदान मिलेगा। उन्होने बताया कि यथास्थान अवशेष प्रबंधन मशीनरी के तहत कस्टम हायरिंग के लिए कृषि मशीनरी बैंक की स्थापना की गई है। किसानों को सहकारी समितियों, एफपीओ, स्वसहायता समूहों, पंजीकृत किसान समितियों किसान समूहों, निजी उद्यमियों, महिला किसान समूहों को फार्म मशीनरी बैंक अथवा कस्टम हायरिंग केंद्र स्थापित करने के लिए परियोजना लागत के 80 की दर पर वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही है। व्यक्तिगत किसान को कृषि अवशेष प्रबंधन के लिए मशीनरी, उपकरणों की 50 प्रतिशत लागत की दर से वित्तीय सहायता प्रदान की जायेगी। उन्होने यह भी बताया कि अनुदान प्राप्त करने के लिए पंजीकृत किसानों को विलम्बतम 6 नवम्बर तक खरीद किए गए कृषि यंत्र की बिल अनिवार्य रूप से अपलोड करानी होगी। 

No comments:

Post a Comment