Saturday, November 3, 2018

पटाखे हटाते समय लगी आग से मासूम की मौत

गोन्डा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी                                गोंडा के बभनान क्षेत्र के पैकोलिया थानांतर्गत वार्ड नम्बर छह लक्ष्मीबाई नगर में पटाखा हटाते समय शाम करीब छह बजे एक बम अचानक दग गया। पल भर में ताबड़तोड़ कई धमाकों के साथ ही पहली मंजिल पर स्थित कमरे में आग गई। आग का गोला बने मकान की खिड़की के रास्ते आसमा (30) पत्नी अब्दुल अजीज और पड़ोस में रहने वाली मासूम आरजू (09) पुत्री नौशाद नीचे कूद गई। जबकि कमरे में मौजूद नौशाद की तीन साल की बेटी शाहिदा की मौत हो गई। झुलसी हाल में दोनों को नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया, जहां से जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। थोड़ी देर बाद दोनों को बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर रेफर कर दिया गया।
विस्फोट की जानकारी मिलते ही एएसपी पंकज, एसडीएम हर्रैया शिवप्रकाश शुक्ल, सीओ हर्रैया राहुल पांडेय, एसओ पैकोलिया पंकज कुमार पांडेय के साथ अग्निशमन टीम भी मौके पर पहुंच गई। पहली मंजिल पर हादसा होने के कारण आग बुझाने में दमकल को खासी मशक्त करनी पड़ी। बावजूद आग बुझने से पहले कमरे के अंदर घुसने की हिम्मत नहीं जुटा पाया।
लक्ष्मीबाई नगर निवासी अब्दुल अजीज मुम्बई में नौकरी करता है। घर पर उसकी पत्नी आसमा और बेटी सलमा रहती हैं। बताया जा रहा है यह परिवार चूड़ीहार का काम करता है। वैवाहिक व मांगलिक आयोजनों में चूड़ी पहनाने के साथ पटाखे फोड़ने कर भी काम करता था। इसी सिलसिले में घर के प्रथम तल पर कुछ पटाखे एकत्र कर रखे हुए थे। शुक्रवार की शाम करीब छह बजे आसमा, अपने पड़ोसी नौशाद की नौ वर्षीय बेटी आरजू के साथ पटाखे वाले कमरे की सफाई कर रही थी। कमरे में आरजू की तीन वर्षीय बहन शाहिदा भी मौजूद थी। पटाखों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर रखते वक्त अचानक एक बम हाथ से छूट कर गिर गया, जिससे पटाखों में विस्फोट शुरू हो गया। किसी तरह जान बचाकर आसमा व आरजू कमरे की खिड़की से कूद कर बाहर निकल गईं, जबकि तीन साल की मासूम शाहिदा कमरे में ही फंस गई। अग्निशमन की टीम ने जब आग काबू पाकर मलबा निकालना शुरू किया तो शाहिदा की झुलसी हुई लाश बरामद हुई।

विस्फोट से लगी आग में एक बच्ची की मौत हो गई। एक महिला व बालिका गंभीर रूप से झुलसे हैं। दोनों को बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर रेफर कर दिया गया है। घटना की जांच की जा रही है। जो भी दोषी मिलेगा, उस पर कार्रवाई होगी।

No comments:

Post a Comment