Sunday, December 9, 2018

राष्ट्रीय लोक अदालत में हुआ 5030 मामलों का निस्तारण

अनिल पांडेय की रिपोर्ट
जिला जज  अशोक कुमार के  निर्देशन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। प्रतापगढ़ सिविल कोर्ट परिसर में शनिवार को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में 5030मामलों की सुनवाई कर निस्तारण  किया गया । इस अवसर पर अपर जिला जज/ नोडल नोडल अधिकारी  लोक अदालत   नवनीत कुमार ने कहा कि  इस बार लोक अदालत मे पिछली बार की अपेक्षा अधिक मामले निस्तारित किए गए  । सिविल जज सीनियर डिवीजन मधु डोगरा  सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने बताया कि मामलो के  निस्तारण से जनता को बहुत बड़ी राहत मिली है, उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में राजस्व विभाग सहित कुल  5030  वादों का निस्तारण एक दिन में करके रिकॉर्ड बनाया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण उत्तर प्रदेश के निर्देश पर किया गया।  इस लोक अदालत में  क्रिमिनल उपसमनीय वाद के  2709 मामलों का निस्तारण किया गया। जिसमें  666550 रुपए का  जुर्माना  वसूला गया । मोटर दुर्घटना प्रति कर अधिनियम में  11वादों का निस्तारण हुआ, और  4719424रुपये की क्षतिपूर्ति  दिलाई गई  । परिवार वादों के  54 मामले निस्तारित किए गए। एन आई एक्ट के अंतर्गत  3 वादों का निस्तारण हुआ। सिविल वाद के अंतर्गत  57 मुकदमों का  निस्तारण किया गया। विद्युत वाद के अंतर्गत38 मुकदमे का निस्तारण हुआ ।राजस्व प्रशासनिक  वाद के  1487 मुकदमों का  निस्तारण किया गया । । बैंक एवं टेलीफोन  विभाग के  671 मुकदमों का निस्तारण किया गया एवं  35191280 रुपए का  सेटलमेंट  किया गया । उत्तराधिकार के 57 मामलों में 12271828 रुपए का उत्तराधिकार प्रमाण पत्र जारी किया गया। आज के लोक अदालत में कुल 52849082 रूपए के बाद निस्तारित हुए। लोक अदालत  का संयोजन सचिव  मधु डोगरा द्वारा किया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत की सफलता में एडवोकेट मीडिएटर विश्वनाथ त्रिपाठी तथा पीएलवी  , राम प्रकाश पांडे,  प्रभात पांडे,  गिरीश पांडे  , श्लोक मिश्र,  युगेश तिवारी  , अनिल पांडे, दिनेश मिश्रा,  जुल्फिकार , दिनेश कुमार पांडे, शैलेंद्र ओझा, विनोद मिश्रा, अजय शर्मा ने सक्रिय रुप से सहयोग किया।

No comments:

Post a Comment