Tuesday, December 11, 2018

बर्खास्त होंगे गांवो में जाकर कार्य न करने वाले सफाईकर्मी

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
गोंडा डीएम कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव व सीडीओ अशोक कुमार ने गांवों में जाकर साफ सफाई न करने वाले सफाई कर्मियों की बर्खास्तगी की तैयारी के साथ बार बार चेतावनी के बाद भी शौचालय निर्माण व फोटो अपलोडिंग में फिसड्डी रहने वाले पंचायत सचिवों के खिलाफ भी बर्खास्तगी की कार्यवाही होने जा रही है। वहीं अब ब्लाकों के बीडीओ व एडीओ हर पन्द्रह दिन पर डीएम व सीडीओ को कई सरकारी योजनाओं की वास्तविक स्थिति रिपोर्ट देगें।
    सोमवार को विकास कार्यों की साप्ताहिक मीटिंग में डीएम व सीडीओ ने सभी बीडीओ व डीपीआरओ को स्पष्ट आदेया दिए हैं कि वे गांवों में सर्वें करा लें कि किन गांवों के सफाई कर्मी गांवों में नहीं जाते हैं और कहां-कहां गन्दगी है। उन्होने निर्देश दिए कि ऐसे सफाईकर्मियों का चिन्हांकन ग्राम प्रधानों से पूछकर न किया जाय बल्कि ग्रामीणों से पूछ कर लिस्ट व गांव की साफ-सफाई की स्थिति के आधार पर किया जाय। लिस्ट आने के बाद ऐसे लापरवाह सफाईकर्मियों के खिलाफ सीधे निलम्बन की कार्यवाही की जायेगी। इसके अलावा शौचालय निर्माण के स्वयं द्वारा ही डीएम को समय सीमा देकर मोहलत लेने वाले फिसड्डी पंचायत सचिव भी डीएम के निशाने पर आ गए हैं। डीएम ने डीपीआरओ व बीडीओ को मीटिंग में ही कड़ी फटकार लगाते हुए ऐसे लापरवाह पंचायत सचिवों के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्यवाही शुरू कर देने के निर्देश दिए हैं। विकास कार्यों की समीक्षा के दरम्यान ही डीएम ने सभी बीडीओ व  एडीओ पंचायतों को निर्देश दिए कि वे लोग रोजना क्षेत्र में सरकारी योजनाओं की हकीकत देखने के लिए स्वयं निकलें तथा सरकारी योजनाओं जैसे गांवों में ट्रान्सफार्मर व विद्युत आपूर्ति, हैडपम्प, एएनएम सेन्टर, आशा बहुओं के र्काकलाप, राशन वितरण, नलकूपों के संचालन की वर्तमान स्थिति, पानी की टंकी व पेयजल आपूर्ति की स्थिति आदि की गोपनीय पाक्षिक रिपोर्ट एक निर्धारित प्रारूप पर डीएम व सीडीओ को हर पन्द्रह दिन पर देगें जिससे गांवों में विकास कार्य व दुरूस्तीकरण सही तरीके से कराया जा सके। इसके अलावा डीएम ने सभी बीडीओ से ग्राम पंचायत वार रिपोर्ट मांगी है कि किस ग्राम पंचायत में कितना धन आवंटित हुआ, कितना व्यय हुआ और कितना अभी डम्प है। डीएम ने साफ चेतावनी दी है कि बेवजह सरकारी धनराशि डम्प करने वाले ग्राम प्रधानों तथा पंचायत सचिवों के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। विकास की मीटिंग में डीएम ने मनरेगा, आवास निर्माण, स्वयं सहायता समूहों के गठन एवं संचालन, जीपीडीपी सहित अन्य कार्यों की समीक्षा की।
     बैठक में पीडी, डीसी मनरेगा, डीसी एनआरएलएम, डीपीओ दिलीप पाण्डेय, सभी बीडीओ व एडीओ पंचायत, डीपीसी अभय सिंह रमन सहित अन्य मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment