Thursday, December 6, 2018

भाजपा की उपलब्धियां जनता सुनने को नही तैयार फोटो सेसन तक सिमटा अभियान

देवीपाटन मंडल प्रभारी पी के द्विवेदी की रिपोर्ट

गोण्डा लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर जुटी भारतीय जनता पार्टी आम जनमानस को आकर्षित करने के लिए तरह तरह की यात्राएं अपने कार्यकर्ताओं से कराकर जनता के मध्य अपनी उपलब्धिया गिनाने का अभियान चला रही है, जिसका जनता संज्ञान नही ले रही है। पहले भाजपा द्वारा अपने सांसदों को जनता के मध्य भेजने का फ्लॉप अभियान देखकर कमल सन्देश यात्रा के बाद पदयात्रा अभियान पूरी तरह फ़्लाफ़ होता दिखाई दे रहा है। भाजपा कार्यकर्ता जनता के मध्य जाकर उपलब्धिया गिनाने के बजाय किसी गांव मोहल्ले में खड़े होकर फ़ोटो खीचकर शोसल मीडिया से लेकर अखबारों के कार्यालय में विज्ञप्तियां भेजकर अभियान चलाने के दावे कर रहे है, लेकिन सच्चाई यह है कि महंगाई, कानून व्यवस्था से लेकर किसानों की दुर्दशा और जनता का भाजपा सरकारों के प्रति आक्रोश देखकर भाजपा कार्यकर्ता  जनता के मध्य जाने से घबरा रहा है। भाजपा दावा कर रही है कि गरीबो को सस्ते अनाज, उज्ज्वला योजना, सौभाग्य योजना, आवास, शौचालय, जैसी योजनाएं जनता को आकर्षित कर रही है पर जमीनी सच्चाई यह है कि महंगाई, भ्रस्टाचार, बिगड़ी कानून व्यवस्था, घूसखोरी से त्रस्त जनता भाजपा कार्यकर्ताओं से बात तक करने को तैयार नही है। भाजपा कार्यकर्ता पार्टी नेतृत्व के निर्देश पर पदयात्रा अभियान की खानापूर्ति विवशता में कर रहे है। दूसरी तरफ अभियान को सक्रीयता के साथ धरातल पर उतारने में जिला संगठन उत्साहित नही दिखाई देता। जिला पदाधिकारियो में व्याप्त गुटबाजी, मठाधीशो के व्यवहार और कार्यकर्ताओं की मनभर उपेक्षा के कारण के  जनपद में भाजपा नेतृत्व के द्वारा दिये गए प्रत्येक कार्यक्रम में छाप छोड़ने में असफल हुई है। भाजपा के बड़े नेताओं में एक दूसरे को नीचा दिखाने, अधिकारियों की परिक्रमा करके निजस्वार्थ पूरा करने का अभियान सफलता पूर्वक चल रहा है। पदयात्रा कार्यक्रम पूरी तरह फ़्लाफ़ साबित हो रहे है, क्योंकि कार्यकर्ता फ़ोटो सेसन तक सीमित है, तो जनता उनकी बात सुनने को तैयार नही है । ऐसे में आगामी लोकसभा चुनाव तैयारियों में उसको फिसड्डी साबित होने की प्रबल संभावना दिखाई देने लगी है। वही भाजपा के नाम कुछ कथित लोग जो पहले समाजवादी की शोभा बढ़ा रहे थे आज वे फिर भाजपा की शोभा बढ़ा रहे है ।वही आम जन मानस की समस्याओं पर चर्चा न करके बस अपने लाभ हानि के बारे में सोच रहे ।पुरे जनपद की एक भी सड़क चलने लायक नही इस पर चर्चा नही हो रही है ,छुट्टा जानवर किसानों के सरदर्द बनते जा रहे है ,किसानों का गन्ना नही बिक रहा है,पात्र लोगो को सरकार की योजनाओं का लाभ नही मिल रहा है ,थानों पर जम कर दलाली हो रही है,आम जन मानस का शोषण हो रहा है ,यहां तक पत्रकारों को सच लिखने से रोका जा रहा है,अब ऐसे में जब कोई कार्यकर्ता आम जन मानस के पास व उनके सवालो का उत्तर नही दे पा रहा है इसलिए केवल फ़ोटो खिंचवाने व सोशल मीडिया पर प्रचार के अलावा और कोई विकल्प नही है ।

No comments:

Post a Comment