Tuesday, December 25, 2018

फर्जी बैनामा कराकर दबंगो ने हड़पी बुजुर्ग की जमीन प्रशाशन बना मूकदर्शक

पवन कुमार द्विवेदी

गोंडा-रामराज्य की बात करनेवाली सरकार में तो गजब ही ही है ,जहाँ एक बुजुर्ग की अनुपस्थिती में गाँव ही के दबंगों ने उसके स्थान पर फर्जी आधार कार्ड के साथ किसी और को सामने कर बुजुर्ग के घर व खेत का कूटरचित बैनामा करा उसकी भूमि व मकान हड़प लिया ।पीड़ित बुजुर्ग इस बावत हुई जानकारी पर वापस घर आया तो दबंगों ने उसे डरा धमका कर घर से निकाल दिया।मामला जिले के वजीरगंज थानाक्षेत्र के बानेपुर गाँव का है जहाँ के रहने वाले बुजुर्ग रामकेवल यादव पुत्र फागू ने अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुये बताया कि,वह लम्बे अर्से परिवार समेत पंजाब में जलंधर जिले के नकोदर क्षेत्र में रहता है,तथा नकोदर में वह  प्राईवेट नौकरी कर अपने परिवार का भरण-पोषण करता है व हर साल,छह महीने पर वह हफ्ते दस दिन के लिये अपने घर बाने पुर आता - जाता रहता है।उसकी इन्हीं परिस्तिथियों का फायदा उठाते हुये पड़ोसी गाँव चड़ौवा के सुरेन्द्र सिंह पुत्र रुद्रप्रताप सिंह,माधवपुर मनकापुर के धर्मेन्द्र पुत्र पूरन,मझारा की श्रीमती शीलम सिंह पत्नी अशोक सिंह, करनैलगंज के त्रिभुवन सिंह पुत्र सुखराज सिंह,जलाल पुर वजीरगंज के अजय तिवारी पुत्र रामप्रसाद तिवारी ने कुछ अधिकारियों की मदद से जाली दस्तावेज तैयार कर साजिशन कूटरचित तरीके से पीड़ित रामकेवल की जमीन गाटा संख्या 0/60.5210 के एक तिहाई 0.1636 हिस्से को किसी अन्य व्यक्ति को रामकेवल बनाकर उसका फर्जी आधारकार्ड बनवा सिरसी गोरांग गाँव घनघटा संतकबीर नगर की अपनी किसी रिश्तेदार संजू सिंह पुत्री बंशबहादुर सिंह के नाम 31-05-2018 को फर्जी बैनामा करा दिया।उसके ढाई महीने बाद पुन:एक बार फिर दूसरा बैनामा उन्हीं जाली दस्तावेजों की मदद से 16-08-2018 को संजू सिंह से सुरेन्द्र सिंह ने अपने नाम करा लिया व पीड़ित बुजुर्ग के घर व खेत पर कब्जा भी कर लिया।जब   बुजुर्ग रामकेवल को इस संबध में जानकारी हुई तो वह पंजाब से अपने गाँव बाने पुर आया तथा सुरेन्द्र सिंह से कहा यह सब फर्जी है उसे उसका घर खेत उसे वापस कर दें,इस पर सुरेन्द्र सिंह ने आग बबूला हो उसे धमकाया कि,जहाँ से आये हो वहाँ वापस चले जाओ यहाँ तुम्हारा कुछ नहीं है,नहीं तो गोली मार देंगे।पीड़ित निराश हो तहसील न्यायालय में गुहार लगाई।निराश बुजुर्ग राम केवल ने तहसील न्यायालय में न्याय की गुहार लगाने पर तहसीलदार के समक्ष लेखपाल की आख्या के साथ जब अन्य साक्ष्य प्रस्तुत किया तो ,तहसीलदार ने उक्त संजू सिंह का फर्जी बैनामा निरस्त कर पीड़ित रामकेवल के पक्ष में फैसला भी दे दिया।पर उसके बावजूद दबंग उस पर कब्जा पीड़ित को नहीं दे रहे।

पीड़ित बुजुर्ग रामकेवल अदालत के आदेश के साथ जब पुलिस के पास अपनी भूमि पर दिलाने की फरियाद लेकर पहुँचा तो पहले वह उसे थाने का चक्कर लगवाती रही बाद में पुलिस ने कहा कि,करोड़ों की जमीन है हमें कितना मिलेगा।पीड़ित के बारे में जब इस संबंध में सीओ सदर महावीर सिंह से बात हुई तो उन्होने कहा कि,मामला मेरे संज्ञान में है,पीड़ित की पुलिस पूरी मदद करेगी व उसे न्याय मिलेगा।बहरहाल सफेदपोशों की बरदहस्त के चलते न्याय व कानून को खिलौना समझकर उससे खिलवाड़ करने वाली स्थानीय पुलिसअपनेअधिकारियों की बात को कितना मानती है यह तो समय ही बतायेगा।

No comments:

Post a Comment