Friday, January 25, 2019

चौकी इंचार्ज की बदसलूकी पर एसएसपी से मिले मेजर चौकी इंचार्ज लाइन हाजिर

Hari om Gupta
कानपुर नगर, भले ही सूबे के मुखिया अपराधियों पर लगाम लगाने की बात करते हो लेकिन खाकी में कई ऐसे चेहरे भी है तो अपराधिक मानसिकता के है। समय समय पर खाकी के ऐसे ही चेहरो की कू्ररता सामाचार पत्रो के माध्यम से सामने आती रहती है। मानवीय संवेदनाओ को दरकिनार करते हुए यह भी भुला दिया जाता है कि महिला, बुजुर्ग से किस प्रकार बात करनी चाहिए। सबको एक ही डण्डी से हांकने वाली खाकी का एक और कारनामा सामने आया है जिसमें एक आमी के सूबेदार को पनकीरोड चैकी इंचार्ज थाना कल्याणपुर ने चैकी में बुलाया और फिर उन्हे बुरी तरह मारा। इतना ही नही साथ में गयी उनकी पत्नी को इतनी भद्दी गालियां दी कि पीडित महिला एसएसपी कार्यालय में वह गांलियां नही बता सकी और रो पडी। इससे ज्यादा और क्या हो सकता है कि पुलिस का आंतक इतना बढ जाये जिसमें आर्मी के मेजर को आना पडे, वहीं एसएसपी के शिकायत करने आये मेजर ने इसे गुण्डागर्दी बताते हुए आक्रोश जताया और कहा कि जो देश की सेवा के लिए जीवन अर्पण करने को तैयार रहते है, उनके साथ यह अनावीय कार्य कोई जिम्मेदार अधिकारी नही बल्कि क्रूर इंसा नही कर सकता है। 
                     बताते चले कि बीती 21 जनवरी को पीडित सेवानिवृत आर्मी के सूबेदार को चैकीइंचाज पनकी रोड धीरेन्द्र सिंह, कल्याणपुर ने बुलाया था। इस सम्बन्ध में सूबेदार ओम सिंह ने बताया कि उनकी बहू उनके तथा पुत्र के खिलाफ आये दिन थाना कल्यानपुर में शिकायत करती है। उस दिन चैकी इचार्ज पनकी रोड ने पुत्र व मुझे चैकी बुलाया और बातचीत के दौरान आवेश में आकर चैकी इंचार्ज धीरेन्द्र सिंह पुत्र को बुरी तरह पीटने लगे। पुत्र रोहित को पिटता रेख उन्होने कहा मारिए मत बात करिए, उचित समझिये तो धाराये लगा दीजिये लेकिन चैकी इंचार्ज ने नही मानी और सूबेदार को भी बुरी तरह पीट दिया जिससे उनके चेहरे पर गंभीर चोटे आयी। चैकी इंचार्ज धीरेन्द्र सिंह का मन इतने में ही नही भरा उसने सूबेदार की पत्नी को भददी भददी गालियां दी जिसे वह एसएसपी कार्यालय में नही बता सकीं और रो पडी। सूबेदार ओम सिंह ने बताया कि पुलिस ने कुचक्र रच कर महज 151 के मुकदमें मे चार दिन पुत्र को जेल कटवा दिया और पीछे पडा रहता है। खुलेआम गुण्डई करते हुए चैकी इंचार्ज ने कहा सालों कहीं शिकायत की तो फर्जी मुकदमे लगाकर जेल भेज दूंगा। मेजर ने कहा हम लोग डिसिपलिंग वाले लोग है और जब नौकरी कर समाज में आते है तो वहीं आदत हमारी बनी होती है, हम किसी गलत काम को नही करते और न ही बर्दास्त करते है। एक तरफ एडीजी वर्दी का अंहकार न करने की सीख दे रहे है, कह रहे हे कि जनता के साथ सौम्य व्यवहार किया जाये, पीउित, बच्चे, महिलाए और बुजुर्गो का सम्मान किया जाये लेकिन खाकी वार्दी में ऐसा कुछ नही दिखता है। शहर में हजारो लोग पुलिस उत्पीडन के शिकार है, न ही उनकी कोई सुनता है और न ही ऐसे पुलिसवालों पर कोई कार्यवाही होती है। मौके पर भाजपा सैनिक प्रकोष्ठ के सह संयोजक सूबेदार मेजर केके सिंह, क्षेत्रीय संयोजक महेश मिश्रा, ऐके सिंह, उपाध्यक्ष पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ, ऐके मिश्रा सुबेदार मेजर महासचिव पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ, दिनेश मौर्चा जि0 अध्यक्ष तथा पीडित ओम सिंह व उनकी पत्नी उपस्थित रहीं।
एसएसपी से मिलने पहुंचे मेजर व अन्य सैन्यकर्मी
पनकी रोड चैकी इंचाज की क्रूरता को सुनकर आर्मी के अधिकारी भी क्रोधित हो उठे और मेजर योगेन्द्र सिंह अध्यक्ष पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के नेतृत्व में पीडित सूबेदार तथा उनकी पत्नि को लेकर एसएसपी से मिलने पहुंचे तथा एसएसपी को पूरी घटना से अवगत कराया। मेजर योगेन्द्र  सिंह ने पत्रकारो को बताया कि एक वह व्यक्ति जिसने देश की सेवा में अपना जीवन अर्पण किया जो उसके साथ खाकी का ऐसा व्यवहार शर्मनाक है। कहा हमलोग एक नियम से बंधे है और कोई भी नियमाविरूद्ध कार्य नही करते लेकिन इस प्रकार की घटना को बर्दास्त नही किया जा सकता है। उन्होने एसएसपी से अपना आक्रोश व्यक्त किया।
एसएसपी ने चैकी इंचार्ज को हटाया किया लाइन हाजिर
पूरे मामले से वाकिफ होने के बाद पीडित सूबेदार को एसएसपी अनन्त देव ने सांत्वना दी और पनकी रोड चैकी इंचार्ज, थाना कल्याणपुर को तत्काल हटाने तथा लाइन हाजिर करने के आदेश दिये तथा मेजर योगेन्द्र सिंह को कार्यवाही का आश्वासन दिया।

No comments:

Post a Comment