Wednesday, January 9, 2019

भाजपा सरकार में विश्वकर्मा समाज का हुआ उत्पीड़न

मेरठ भाजपा सरकार में लगातार विश्वकर्मा समाज का अपमान और उत्पीडन हो रहा है।समाज पर अत्याचार और उत्पीडन बर्दाश्त नहीं।समाज अन्याय के बिरुद्ध संघर्ष करें तभी सम्मान बचेगा।उक्त बाते आज अखिल भारतीय विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्वमन्त्री श्री राम आसरे विश्वकर्मा ने जनपद मेरठ के कलावती इण्टर कालेज भोला रोड मेरठ में आयोजित अखिल भारतीय विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के द्वारा आयोजित विश्वकर्मा सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कही।श्री विश्वकर्मा ने कहा भाजपा सरकार ने हमारे आराध्य देव भगवान विश्वकर्मा  के पूजा दिवस के सार्वजनिक अवकाश को निरस्त कर उनका अपमान कर दिया।सपा  सरकार में मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने विश्वकर्मा पूजा दिवस पर सार्वजनिक अवकाश घोषित कर विश्वकर्मा समाज का सम्मान और  पहचान बनाया था जिसे भाजपा सरकार मिटा रही है।जब तक विश्वकर्मा समाज के लोग  राजनैतिक फैसले नहीं लेगे और समाज के  विधायक सांसद और मन्त्री नहीं बनायेगें तब तक न तो समाज मजबूत होगा और न समाज को भागीदारी मिलेगी।सपा सरकार में राम आसरे विश्वकर्मा  को मन्त्री बनाकर सरकार में भागीदारी दी गयी थी।परिणाम स्वरूप विश्वकर्मा समाज के विकास के लिये नीतियां बनायी गयी।मुजफ्फरनगर सहारनपुर शामली  शाहजहांपुर गोरखपुर इलाहाबाद आजमगढ़ सहित कई शहरों  में विश्वकर्मा के सम्मान में विश्वकर्मा चौक पार्क पुस्तकालय और बारातगृह और रैनबसेरा बनाये गये।विश्वकर्मा समाज के लिये इण्टर और डिग्री कालेज खोले गये। विश्वकर्मा समाज के भूमिहीन लोगो को वर्कशाप और कुटीर उद्योग लगाने के लिये ग्रामसभा की जमीनो का पट्टा दिया गया।सपा सरकार में मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने सरकारी नौकरियों में भर्ती  हेतु इण्टर पास विश्वकर्मा समाज के लडको को आईटीआई का प्रमाणपत्र देने का शासनादेश जारी किया।भाजपा केन्द्र सरकार ने उस पर रोक लगा दी।श्री विश्वकर्मा ने समाज से अपील की वे एक नजर अपने कारोबार पर और एक नजर सरकार पर रखें और जो सरकार समाज के हितो के विपरीत काम करे उस सरकार को बदल देना चाहिये।श्री विश्वकर्मा ने कहा कि भाजपाराज में विश्वकर्मा समाज पर लगातार उत्पीडन और अत्याचार हो रहा है।समाज के लोगो की हत्याये बलात्कार और उनकी जमीनों पर कब्जे हो रहे हैं।न तो पुलिस कार्यवाही कर रही है और न भाजपा सरकार सुनवाई कर रही है।सपा सरकार में बात बात पर आन्दोलन करने वाले विश्वकर्मा समाज के नेता भाजपा सरकार के विरोध में बोलने के लिये तैयार नहीं है।समाजवादी पार्टी की सरकार में हत्या होने पर सरकार तत्काल कार्यवाही करती थी और मुख्यमंत्री  के कोष से उस परिवार की मदद भी होती थी।श्री विश्वकर्मा ने कहा कि आपसी भेदभाव छोडकर सभी पांचाल धीमान जांगिड विश्वकर्मा एकजुट हो और समाज के अत्याचार और उत्पीडन की लडाई खुद लडे तभी सम्मान बचेगा और लोग सुरक्षित होगे। लोग इलाज के अभाव में मर रहे है और सरकार मदद नही कर रही है।श्री विश्वकर्मा ने पूछा कि अच्छे दिन लाने का वादा करने वाली भाजपा सरकार में न अच्छे दिन आये न तो किसी को नौकरी मिली और न किसी खाते में पन्द्रह लाख रूपये आये।यह सरकार पिछडे वर्गो के आरक्षण को समाप्त करने की साजिश कर रही है।अगर आरक्षण समाप्त हो गया तो पिछडे वर्ग के किसी ब्यक्ति को नौकरी नहीं मिलेगी।पहले विश्वकर्मा समाज अपने पुश्तैनी लोहे और लकडी के कारोबार पर गुजारा कर लेता था लेकिन बहुराष्ट्रीय कम्पनियों के आने के कारण उनका बाजार पर कब्जा हो गया और विश्वकर्मा समाज बेरोजगारी और भुखमरी के कगार पर पहुंच गया है।श्री विश्वकर्मा ने मांग  कि सरकार  लोहे लकडी का कारोबार तथा आरा मशीनों का लाइसेंस  विश्वकर्मा समाज के लिये आरक्षित करे और लकडी कारोबार पर लगा जीएसटी समाप्त करे तथा सरकार समाज को विशेष सुविधायें दे। विश्वकर्मा समाज को जनसंख्या के आधार पर सरकारी नौकरियों सरकारी पदों तथा राजनीति और सरकार मे  हिस्सेदारी देने का काम करे।समाज अब अपना अधिकार अपनी हिस्सेदारी लेने के लिये सडक से लेकर संसद तक पर संघर्ष करने के लिये तैयार रहे।श्री विश्वकर्मा ने विश्वास दिलाया कि हम विश्वकर्मा समाज के सम्मान और स्वाभिमान  की लडाई में आपके कन्धे से कन्धा मिलाकर संघर्ष करेगे।कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष श्री संजय पांचाल तथा संचालन महामन्त्री राजेन्द्र विश्वकर्मा ने किया।सम्मेलन को पूर्व विधायक हाजी गुलाम मुहम्मद राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ब्रिजेश विश्वकर्मा विश्वकर्मा ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष  आशुतोष विश्वकर्मा प्रदेश उपाध्यक्ष देशपाल पांचाल मिन्टू पांचाल एसपी सिंह विश्वकर्मा ब्रिजेन्द विश्वकर्मा धीमान राजबीर विश्वकर्मा दिनेश धीमान राम निवास शर्मा एस०पी०सिंह आदित्य धीमान रामपाल विश्वकर्मा शेरपाल पांचाल सुरेन्द्र कंण्डेरा सोहनपाल विश्वकर्मा सत्येन्द्र विश्वकर्मा अशोक विश्वकर्मा डा० राजपाल विश्वकर्मा विकास पांचाल बाबूराम विश्वकर्मा नरेश आर्य दिनेश केशरिया ने आदि ने सम्बोधित किया।
शिव प्रकाश विश्वकर्मा

No comments:

Post a Comment