Monday, February 25, 2019

चुनाव से पहले 82802 किसानों को मिली प्रधानमंत्री किसान सम्मान राशि

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
देश के प्रधानमंत्री के हाथों गोरखपुर में एक क्लिक और गोण्डा के 82,808 किसानों के खाते में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की पहली किस्त दो हजार रूपए पहंुच गई। कलेक्ट्रेट सभागर में मौजूद किसानों ने करतल ध्वनि से प्रधानमंत्री का अभिनन्दन किया। यह मौका था गोरखपुर में प्रधानमंत्री द्वारा किसानों की आय बढ़ाने व आर्थिक सहायता देने के लिए शुरू की गई ऐहिहासिक योजना प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की लाचिंग का। जिले के विकासखण्ड इटियाथोक ग्राम जगतापुर निवासी श्यामू यादव जिले के पहले किसान बने जिनके खाते में इस योजना की राशि सबसे पहले आई। डीएम सहित सभी अधिकारियों ने श्यामू सहित अन्य सभी किसानो को बधाई दी।
बतातें चलें लघु एवं सीमान्त किसानों की आय बढ़ाने हेतु केन्द्र सरकार द्वारा लागू की गई योजना प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा उत्तर प्रदेश के जनपद गोरखपुर से शुभारंभ कार्यक्रम का सजीव प्रसारण कलेक्टेªट परिसर के सभागार में किया गया। जिसमें गणमान्य नागरिक, जनपद स्तरीय अधिकारी व भारी संख्या में कृषक व लाभार्थी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का सजीव प्रसारण जनपद मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट सभागार में तथा जनपद की सभी तहसीलों करनैलगंज, मनकापुर, तरबगंज में व सभी ब्लाक मुख्यालयों पर किया गया। जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल ने इसके लिए ब्लाकवार नोडल अधिकारियों को नामित कर ड्यूटी लगाई थी। कलेक्ट्रेट में डीएम ने स्वयं अपने हाथ से किसानों को प्रमाण पत्र प्रदान किए। उप निदेशक कृषि मुकुल तिवारी ने कार्यक्रम के दौरान बताया कि लघु एवं सीमान्त किसानों की आय बढ़ाने हेतु भारत सरकार द्वारा दिनांक 01 फरवरी 2019 को पेश किए गये बजट में किसान सम्मान निधि की स्थापना कर बाकायदा बजट का प्राविधान किया गया जिसमें लघु एवं सीमान्त कृषकों के परिवार को प्रति वर्ष तीन किस्तों में उनके खातों सीधे दो-दो हजार करके छः हजार रूपए डाइरेक्ट बेनीफिट ट्रान्सफर के माध्यम से प्रदान किया जायेगा। इस योजना को एक दिसम्बर 2018 से लागू किया गया है, इसलिए किसानों को 01 दिसम्बर 2018 से 31 मार्च 2019 की समयावधि के लिए दो हजार रूपए की किस्त को लघु सीमान्त कृषकों के परिवारों के बैंक खातों में स्थानान्तरित की गयी।
गोण्डा में भू-अभिलेखों के अनुसार लघु एवं सीमान्त कृषकों की कुल संख्या 2 लाख 48 हजार है जिसके सापेक्ष प्रथम चरण में जिले के बयासी हजार आठ सौ आठ किसानों को प्रथम किस्त के रूप में उनके खातों में दो हजार झपए की धनराशि ट्रान्सफर की गईं। इस अवसर पर हाल में बैठें किसानों
से रूबरू होते हुए पीएम ने मन की बात की जिसका भा भी प्रसारण कृषकों व उपस्थित गणमान्य नागरिकों के मध्य किया गया जिसमें मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा पुलवामा हमले में शहीद हुए वीर जनों को श्रृद्धांजलि देते हुए कहा कि हमारे देश के सभी सशक्त बलों का साहस अद्धितीय है। उन्होंने सभी शहीदों का नाम लेकर उनके अदम्य साहस की सराहना करते हुए संकट की इस घडी में उनके परिवारीजनों के देश के प्रति निष्ठावान होने की बात कही। उन्होंने यह भी बताया कि देश में नेशनल बार मेमोरियल का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है जिसको दिनांक 25 फरवरी को देश की ओर से सेना को भेंट कर दिया जायेगा। इस दौरान उन्होंने महिला सशक्तीकरण, आयुष्मान भारत, पीएम जय आदि के बारे में भी चर्चा की साथ ही उन्होंने बिरसामुण्डाजी व जमशेद टाटा जी को श्रृद्धांजलि देते हुए उनके कृत्यों पर भी प्रकाश डाला तथा उन्होंने आने वाले विभिन्न बोर्डो द्वारा आयोजित शैक्षिक परीक्षाओं के परीक्षार्थियों को शुभकामनायें भी दी।
इस अवसर पर एडीएम रत्नाकर मिश्र, सीआरओ कुन्ज बिहारी अग्रवाल, संयुक्त कृषि निदेशक देवीपाटन मण्डल, एसडीएम सदर एसन त्रिपाठी, डीडी एग्रीकल्चर मुकुल तिवारी, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी गिरीश कुमार, तहसीलदार सदर वीपी पाण्डेय, भाजपा नगर अध्यक्ष दीपक अग्रवाल, वरिष्ठ अधिवक्ता व बीजेपी मीडिया समन्वयक केके श्रीवास्तव, भाजपा युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष दीपक गुप्ता व अन्य मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment