Friday, February 22, 2019

मुख्यमंत्री योगी ने लांच की किशोरी बालिका योजना

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
लखनऊ लोकभवन से लांच किए गए किशोरी बालिका योजना कार्यक्रम के दौरान प्रदेश की आगंनबाड़ी कार्यकत्रियों को यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा सम्बोधित किया गया जिसका सीधा प्रसारण दूरदर्शन के माध्यम से जिले के सभी 16 विकासखण्डों तथा विकास भवन मीटिंग हाल में देखा गया।  विकास भवन हाल में डीएम डा0 नितिन बंसल सहित वरिष्ठ अधिकारियों तथा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने मुख्यमंत्री के संदेश को सुना। प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि समय से पहले स्कूल छोड़ने वाली बालिकाओं के लिए किशोरी बालिका योजना है. बालिकाओं के लिए सरकार हर संभव मदद करने के लिए तैयार है. किशोरियों के खान पान के लिए महीने में 25 दिन अरहर दाल, बाजरा,ज्वार, राखी मक्का, घी जैसी चीजें उपलब्ध करायी जाएगी. इससे उसकी प्रोटीन और कैलोरी की जरूरत पूरा हो सके. इस योजना से प्रदेश में 5 लाख से अधिक किशोरियां लाभान्वित होंगी. 8 मार्च को स्वास्थ्य परीक्षण की शुरुआत की जाएगी. सीएम योगी ने कहा कि स्वास्थ्य, शिक्षा, पंचायती राज,ग्राम्य विकास जैसे विभाग से समन्वय करके सेवाओं को सुदृढ़ किया जाएगा. इस योजना का लाभ 11 से 14 वर्ष की बालिकाओं को मिलेगा. इस कार्यक्रम का लक्ष्य किशोरियों को शारीरिक मानसिक जीवन, कौशल विकास और शिक्षा के प्रति प्रेरित करना है. मुख्यमंत्री ने कहा कि, 8 मार्च से सरकार पोषण पखवाड़ा मनाने जा रही है। इस कार्यक्रम के माध्यम से हम देश को स्वस्थ रखने की दिशा में एक बड़ा कदम बढ़ाएंगे। केंद्र के बजट में भी कन्याओं के लिए योजनाएं दी गई हैं, कन्या सुमंगला योजना भी हमने शुरू की है। गरीबी के चलते आज भी कई लोग बालिकाओं के पैदा होने पर खुशी नहीं मनाते हैं, लेकिन प्रधानमंत्री जी की योजनाओं और प्रदेश की योजनाओं ने उनके डर को खत्म करने का काम किया है। इन सभी कार्यक्रमों को बढ़ाने में सभी की एक बड़ी भूमिका है। योगी ने कहा कि, सबसे पहला आंगनवाड़ी का काम देश में यशोदा मैया ने किया था। राष्ट्र को मजबूत करने का काम आंगनवाड़ी के पास है। प्रधानमंत्री जी ने उत्तर प्रदेश के सुपोषण मेले की चर्चा की थी और उसकी प्रशंसा भी की थी। इसलिए हमें और भी मजबूती से काम करना चाहिए। 8 मार्च से चलने वाले पखवाड़े में हम लोगो ने इस कार्यक्रम में हेल्थ चेकअप व ब्लड जांच की भी व्यवस्था की है। इसमें स्वास्थ्य विभाग, बाल पुष्टाहार व माध्यमिक शिक्षा विभाग एक साथ काम करेगा। सीएम के संदेश के उपरान्त डीएम ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का आहवान किया कि वे सब जी जान से लगकर कुपोषण को समाप्त करने के लिए सरकार द्वारा शुरू की गई इस महत्वाकांक्षी योजना को लागू कराने का काम करें। सीएम के भाषण के बाद सभागार में ही पुलवामा शहीदों को श्रद्धान्जलि देने के लिए सामूहिक रूप से दो मिनट का मौन रखा गया।
     इस दौरान पीडी सेवाराम चैधरी, डीडीओ रजत यादव, डीपीआरओ घनश्याम सागर, डीसी मनरेगा हरिश्चन्द्र प्रजापति, जिला कार्यक्रम अधिकारी दिलीप पाण्डेय, हिन्दू युवा वाहिनी के जिलाध्यक्ष शारदाकान्त पाण्डेय व रेखा श्रीवास्तव, सुधीर सिंह तथा सैकड़ों आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां मौजूद रहीं।

No comments:

Post a Comment