Sunday, February 10, 2019

शादी के बाद अपनी ही पुत्री को स्कूल के प्रमाणपत्र नही दे रहे मां बाप पुत्री ने पुलिस से की शिकायत

कानपुर नगर, एक ऐसा वाक्या सामने आया है जिसमें मां-बाप ने अपनी ही पुत्री को उसके शैक्षिक प्रमाणपत्र देने से मना कर दिया और अब पुत्री अपने शैक्षिक प्रमाणपत्र पाने के लिए प्रशासन व शासन से गुहार लगा रही है।बाबूपुरवा कालोनी निवासिनी हेमा बाजपेयी ने बताया कि वह अपने ससुराल में सुखपूर्वक रह रही है और उसने कपडे सिलकर अपनी बीए फाइनल तक की शिक्षापूरी की और अब वह ससुराल में और आगे पढना चाहती है लेकिन ज बवह अपने मायके वालों से अपने प्रमाणपत्र मांगती है तो उसके साथ गाली गलौज की जाती है साथ ही जान से मारने की धमकी दी जाती है। हेमा का मायका चिन्ताखेडा, दौलतपुर, रायबरेली है और वह अपने पिता प्रेम शंकर बाजपेयी की छोटी पुत्री है। बताया उसके माता पिता लडकियो के नाम पर नफरत करते थे और इस कारण उसे मायके में बहुत काम करना पडता था, जानवरो की देखरेख, घर की सफाई, खेतों का काम, खाना बनाना साथ ही न करने पर माता-पिता व भाई मारते थे, जिससे वह विरोध नही कर सकी। कई वर्षो तक वह पेट की बीमारी से भी जूझती रही लेकिन घरवालों ने इलाज तक नही कराया। बताया उसकी शादी बाबूपुरवा में हुई और वह अपनी पढाई जारी रखना चाहती है लेकिन उसके माता-पिता और भाई न तो उसे शैक्षिक प्रमाण पत्र दे रहे है और मांगने पर गाली-गलौज के साथ जान से मारने की धमकी देते है कहते है कि कि तुम घर से विदा हो गयी अब हमारा तुमसे कोई वास्ता नही। ऐसे में हेमा की पढाई बाधित हो रही है। पीडिता ने बताया कि उसकी तीन बहने इलाज के ही आभाव में दम तोड चुकी थी और उसका इलाज भी नही कराया गया। अब जब वह मायके प्रमाण पत्र मांगने जाने की बात कहती है तो भाई हत्या कर देने की धमकी देता है। पीडिता ने प्रशासन और शासन से अपने शैक्षिक प्रमाणपत्र दिलाने के लिए गुहार लगायी है ताकि उसकी आगे की पढाई पूरी हो सके और वह कहीं नौकरी आदि पा सके।

No comments:

Post a Comment