Thursday, February 21, 2019

कानपुर में महाकाब्य पर व्यख्यान का आयोजन

Hari om Gupta
कानपुर नगर, क्राइस्ट चर्च महाविधालय के दर्शनशास्त्र विभाग द्वारा सावधिक व्याख्यान माला के तहत द्ववितीय व्याख्यान का आयोजन किया गया, जिसे भारतीय अनुसंधान परिषद एचएआरडी नई दिल्ली द्वारा प्रायोगित किया गया। इस दौरान डा0 विनीत साहू द्वारा नैतिकता और महाकात्य सम्यतामूलक विमर्श पर व्याख्यान प्रस्तुत किया गया। अध्यक्षता प्रचार्य डा0 आरके गुप्ता ने की तथा अतिथियों का स्वागत  व कार्यक्रम का  संयोजन विभागाध्यक्ष डा0 दिनेशचंद्र श्रीवास्तव ने किया। इस अवसर पर डा0 साहू ने कहा कि सभ्यमा के सामाजिक एवं सांस्कृतिक विकास के मूल सूत्र और विस्तीर्ण गाथा उस समाज के महाकाव्यों में निहित होती है इसीलिए ये महाकाव्य न केवल हमारे सामाजिक इतिहास का आधार बनते है, बल्कि नैतिक मूल्यों और सांस्कृतिक व्याख्याओं को पोषित परिभाषित भी करते है। कहा यही इनकी सार्वकालिक प्रासंगिकता का कारण है। उन्होने इस बात पर बल दिया कि ये महाकाव्य हमारे जीवन, नैतिकता, संस्कृति एवं सभ्यता से सम्बन्धित अनेक अनुतरित प्रश्नो, जिज्ञासाओं और दुविधाओं के उहापोह से निकलने का रास्ता दिखाते है और इसमें जीवन का कर्म छिपा है। विभिन्न कालों में विभिन्न सभ्यताएं लाभान्वित, आशान्वित और विकसित हुई। साथ ही सदन में खुलकर चर्चा भी हुई। इसदौरान विविध विभागों के प्रवक्ताओं और कानपुर के विभिन्न महाविधालयों के प्राध्यापक एवं शोध छात्रों को मिलकर लगभग 50 लोगो ने इस समसामयिक विषय के व्याख्यान में प्रतिभािगता की।

No comments:

Post a Comment