Monday, February 11, 2019

अतिसय रगड़ करे जो कोई विद्याधर पांडेय की जुबानी

नगर निगम गाजियाबाद  बिना किसी पूर्व  सूचना  के चतुष्पथ गणतंत्र (क्रासिंग रिपब्लिक),गौड़  नगर प्रथम व द्वितीय ( गौड़ सिटी वन  व टू), शाहबेरी, डुण्डाहेडा, बिहारी पुरा, सुदामा पुरी, हैबतपुर  व कई अन्य बस्तियों  के बीच कई दिनों  से कूड़ा  डाल रहा था। इसके विरोध  मे क्रासिंग रिपब्लिक फ्लैट ओनर मेम्बर्स एसोसिएशन (क्रोमा)द्वारा 03-02-19 को 500 लोगों  के साथ  प्रदर्शन व सड़क जाम किया गया। लेकिन हठी प्रशासन  का कोई  प्रतिनिधि  प्रदर्शनकारियों  से वार्ता  करने व अपना पक्ष रखने तक नही आया।
(2)इस प्रदर्शन  व सड़क  जाम का समाचार 04-02-19 के  अखबारों
मे रहा। तब भी प्रशासन  मौन रहा।
(3) इस प्रदर्शन  व सड़क  जाम व अखबारों  के समाचार व जनाक्रोश  तथा हरित अधिकरण के आदेश  उच्चतम न्यायालय के स्थगनादेश  के प्रकरण  की समान परिस्थितियों  के आधार  पर मैने (विद्याधर पाण्डेय ने) मुख्य  मंत्री उत्तर प्रदेश  की जन सुनवाई  मे दिनांक  05-02-2019 को   पंजीकरण  संख्या
40014019003473 के अंतर्गत  परिवाद पंजीकृत  कराया।
(4)मेरे औचित्य पूर्ण परिवाद  हरित अधिकरण  व उच्चतम न्यायालय के प्रकरण की समानता - एक गाल पर चपत न मार पाय तो दूसरे गाल पर लगाया चपत - की मेरे द्वारा तुलना के संदर्भ  मे नगर स्वास्थ्य अधिकारी  , नगर निगम, गाजियाबाद  ने पत्रांक
4010/स्वा0/2018-19 दिनांक 07-02-19से अवगत कराया ----
उपरोक्त क्रम मे सादर अवगत कराना है कि उक्त स्थान STP के पास 07-02-19 से कूड़ा 
डम्प नहीं  किया जा रहा है। शिकायतकर्ता ( विद्याधर पाण्डेय) को फोन पर अवगत करा दिया गया है।
(5)नगर आयुक्त  ने इस आख्या को अनुमोदित  करके परिवाद  निस्तारित लिख  दिया है।
(6) मैने दिनांक  08-02-19  फीडबैक मे लिखा है---
नगर निगम गाजियाबाद  के दिनांक 07-02-19 के पत्र द्वारा प्रदत्त सूचना कि कूड़ा STPके निकट नहीं  डाला जा रहा है, अपूर्ण एवम् भ्रामक है।भविष्य में यहां कूड़ा  डालने की पुनरावृत्ति   रोकने की व्यवस्था  बतायें ।यहां  पर कूड़ा  डालकर निवासियों  को आक्रोशित व आन्दोलित करके शासन को बदनाम  करने का  लाभ  भी बतायें । कृत व्यवस्था  भी बतायें ।
(7) आप सभी से विनम्र अनुरोध  है कि जन सुनवाई  के इस परिवाद , इस उत्तर,निस्तारण  आख्या  व फीडबैक  को डाउनलोड  करके हार्ड कापी अभिलेख  हेतु अनुरक्षित  रखें । "क्या होता है " कहनेवाले लोगों  को प्रसारित  करें ।  सोशल मीडिया  पर भी प्रसारित  करें ।
(8) जन समस्याओं के समाधान  हेतु जमीनी संघर्ष  व औचित्य पूर्ण  लिखित विरोध  के सम्मिलित  प्रयास के इस परिणाम को उदाहरण  मे रखकर दूसरी समस्याओं  के समाधान  हेतु आगे बढ़ते रहें ।

        विनीत

विद्याधर पाण्डेय
(1) संस्थापक सदस्य आमआदमी पार्टी, गाजियाबाद ,गौतम बुद्धु नगर
(2) राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, शहीद भगत सिंह समाज कल्याण ट्रस्ट, गाजियाबाद
(3) जनपदीय अध्यक्ष, भारतीय विधि न्याय एवम् समाज, जनपद  गाजियाबाद

       विशेष

मैने दिनांक  05-02-19 का यह परिवाद विभिन्न  व्यक्तियों  व ग्रुपों  मे इस अनुरोध  के साथ अग्रसरित  किया था कि वे भी अपने स्तर से कार्रवाई  करें । किसी द्वारा  की गई  कार्रवाई  का पता नही चल सका।विडम्बना  है कि वोट  के भिखारी  व उनके चारण भी मौन रहे।वोट  के ऐसे डिक्रियों को पहचानते रहें ।

        विद्याधर पाण्डेय

No comments:

Post a Comment