Saturday, February 9, 2019

कानपुर इस स्कूल में दो दिवसीय लिटरेचर फेस्टिवल का आयोजन

hari om gupta
कानपुर नगर, एनएलके ग्रुप आफ स्कूल द्वारा आजाद नगर में दो दिवसीय लिटरेचर फेस्टिवल का आयोजन किया गया, प्रथम दिन देश विदेश से 30 से अधिक लेखक जो बाल्य जगत में ख्याति प्राप्त है पधार कर एनएलके के स्कूलों व कई नामचनी विधालयों के छात्रो की जिज्ञासाओं को शान्त किया। पहले दिन 47 सेशनो में ऐबीसीडी ग्रुप बाटे गये। मुम्बई से आई साक्षी सिंह ने नेत्रहीन बच्चो को जानकारी दी और कहा लिखना एक चिकित्सा की तरह है जो हमारे लक्ष्यों की ओर अग्रसर करता है।
             कानपुर में कविताओ में बडा नाम कमल मुसददी ने अपने वर्कशाप में काव्य लेखन की जानकारी दी। शेष लेखक 9 फरवरी को 47 शेषन के माध्यम से वर्कशाॅप में बाल्य साहित्य पर प्रकाश डालेंगे।  बैंगलौर से आयी अकन्धती वेंकटेश जो बहुत सारे गांव व कस्बों के क्षेत्र में कार्य करती है, आपने स्वनिर्मित कृति पेटू पम्पकिन के विषय मंे बताया। पटकथा लेखिका रूपल केवल्या ने रसायनिक जल सेवन का जीवन पर प्रभाव क विषय में बताया। प्रिया मुथुकुमार ने अपनी कहानियों द्वारा प्रचीन काल की सैर करायी वहीं नेहा सिंह ने अपनी किताब के द्वारा बताया कि अपनी शारीरिक आवश्यकताए जेसे शौच के लिए पूछने में शर्म नही करनी चाहिए यह हर बच्चे का अधिकार है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एमएन सम्भवाल पूर्व पुलिस महानिदेशक रहे तथा मुख्य अतिथि कानपुर एजूकेशन सोसायटी की मंत्री वीणा सम्भरवाल रही। कार्यक्रम का संयोजन संचिता कपूर ने किया। इस अवसर पर डा0 अभिषेक चतुर्वेदी, ज्ञान ंिसह, पल्लवी चंद्रा, अवधेश त्रिपाठी, अमिता कालरा, कनक लता सक्सेना सहित समस्त स्टाफ उपस्थित रहा। इस दौरान पुस्तको का मेला भी लगाया गया, जिसमें छात्र-छात्राओं ने विशेष रूचि दिखायी।

No comments:

Post a Comment