Thursday, February 21, 2019

कानपुर में जलकल विभाग के कर्मचारियों ने ठेकेदारी के विरोध में दिया धरना

hari om gupta
कानपुर नगर, कानपुर जलकल विभाग, नगर निगम के अधिकारी शास के शासनादेशो का पालन न कर कमीशन के लालच में सीवर सफाई कर्मचारी हैण्डपंप कर्मचारी, ट्यूबवेल व पानी की टंकी के कर्मचारियों को उपकरण न देकर उन्हे जबरन क्षेत्रों से हटाकर ठेकेदारी से कार्य कराये जाने के विरोध में जल संस्थान कर्मचारी यूनियन द्वारा जलनिगम कार्यालय में धरना देकर प्रदर्शन किया गया। मांगो को बताते हुए वक्ताओं ने कहा 1 से 7 तारीख तक सभी कर्मचारियों का वेतन भुबतान किया जाये व सीवर, पाइप लाइन, हैण्डपंप तथा टयूबवेल पानी की टंकियों में कार्यरत कर्मचारियों को उपकरण दिया जाये साथ ही मृतक व रिटायर्ड कर्मचारियों का भुगतान किया जाये। कहा गया कर्मचारियों का बकाया एसीपी का पैसा भुगतान हो व सातवां वेतनमान एरियर का पैसा दिया जाये जो शासनादेश है साथ ही वर्षो से एक ही स्थान पर जमे कर्मचारी व अधिकारी को मुख्यमंत्री के निर्देशो का पालन करते तत्काल हटाया जाये। जर्जर पानी की टंकी टयूबवेल की वर्षो से मरम्मत, रंगाई-पुताई, फैली गन्दगी को समाप्त कर कर्मचारी को डियूटी करने योग्य किया जाये और खाली पदों को शीघ्र भरा जाये। सीवर में कार्यरत कर्मी की मृत्यु पर दस लाख दिया जाये कर्मचारियों का लखनऊ भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा बीमा न कराकर प्राइवेट ऐजेन्सी से कराया जाये। कहा दूसरे शनिवार को प्रदेश शहर के सभी विभाग अवकाश पर होते है ऐेस में कानपुर नगर निगम में सफाई कर्मचारियों को इस दिन का अतिरिक्त वेतन दिया जाये। वहीं यह भी कहा कि 2016 में नोट बंदी में विभाग को 18 करेाड रू0 प्राप्त हुआ, 2018 में 27 करेाड रू0 12वां वित्त व 13वां वित्त, 14 वित्त का करोडो रू0 विभाग में आया कहा खर्च कहा हुआ जांच करायी जाये। इसके साथ अन्य मांगो पर भी चर्चा हुई तथा कहा गया कि सभी बिन्दुओं पर विचार कर शासन जलकल विभाग नगर निगम के अधिकारियों पर उचित कार्यवाही कर कर्मचारियों की मांगों का निस्तारण करें।

No comments:

Post a Comment