Tuesday, March 5, 2019

एशिया का सबसे बड़ा शिवलिंग पृथ्वीनाथ पर उमड़ी भक्तों की भीड़

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी

गोण्डा। करनैलगंज क्षेत्र में सोमवार को महाशिवरात्रि पर्व के अवसर पर हुजूरपुर मार्ग स्थित प्राचीन महादेव मंदिर पर सुबह से ही शिव भक्तों की काफी भीड़ उमड़ी। दूर दराज के गांव से आये हुए श्रदालुओं ने महादेव मंदिर में जलाभिषेक किया। पूजा अर्चना करके मनोकामना की। मेले का आनन्द लिया। भीड़ को देखते हुए महिला और पुरुष आरक्षी के साथ साथ करनैलगंज पुलिस प्रभारी मुस्तैद रहे। करनैलगंज कोतवाल राजेश कुमार सिंह, सन्तोष सिंह, रणंजय सिंह सहित श्रद्धालुओं ने विधिविधान पूर्वक रुद्रा अभिषेक किया।

मंदिर के महंत सुनील पूरी जी ने बताया कि यह प्राचीनतम शिव मंदिर है। इस मंदिर में स्थापित शिवलिंग गाथा का अभूतपूर्व महात्म्य है। मान्यता है कि इस शिवलिंग का रसातल से सीधा संपर्क है। जनश्रुति के अनुसार - जब करनैलगंज क्षेत्र एक जंगल के रूप में था। उस जंगल में चरवाहे अपने जानवरों को चराते तथा मूज को इकट्ठा करके उसे कूटकर रस्सी बनाते। एक दिन जिस पत्थर पर मुज कूट रहे थे। अचानक उससे खून निकलने लगा। जिसकी क्षेत्र में खबर फैलते ही लोगों की काफी भीड़ लग गयी।

जिसकी सूचना श्रावस्ती के राजा को हुई। तो वह हाथी व घोड़ों के साथ वहां पहुंचे। और जंजीर में बांध कर पत्थर को हाथी से खिंचवाने लगे। मगर पत्थर को नहीं निकाल पाए। उसकी खोदाई कर निकालने की कोशिश की। फिर भी नाकाम रहने एवं पत्थर से खून की धार बहने से रोक नहीं सके। और राजा बीमार पड़ गए। रात में उन्होंने सपना देखा कि मंदिर बनवाने से ठीक हो सकते हैं। तो वहां मंदिर का निर्माण कराया तथा पुजारी की व्यवस्था की गई। तभी से इस शिव मंदिर में पूजा पाठ व दर्शन को दर्शनार्थी श्रद्धालु आते हैं। हर वर्ष यज्ञ अनुष्ठान एवं रुद्राभिषेक कार्यक्रम होता है।

मंदिर की एक विशेषता यह भी है कि मंदिर का पुजारी अविवाहित होगा। वह जीवन में विवाह नहीं करेगा। ऐसा कहा जाता है कि बत्तीसवीं पीढ़ी के पुजारी महंत सुनील पुरी मंदिर की देखरेख करते हैं। प्रत्येक सोमवार तथा नवरात्रि, कजरी तीज, शिवरात्रि व सावन में काफी संख्या में श्रद्धालु मंदिर में जलाभिषेक करने के लिए आते हैं। यहां पर महाशिवरात्रि व कजरी तीज पर्व को लाखों श्रद्धालु जलाभिषेक व दर्शन करते है। वही एशिया का सबसे बड़ा शिवलिंग जहाँ स्थापित है वह पृथ्वीनाथ जो खरगूपुर से तीन किलोमीटर की दूरी पर पड़ता है जहाँ श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़ सुबह से ही भक्तों का तांता लगा रहा वही प्रसासन की भी चाक चौबंद व्यवस्था रही ।वही जय प्रभा ग्राम  स्थिति शिव मंदिर पर भक्तों की भीड़ रही है ,परिसिया गुदर स्थिति चितेस्वर शिव मंदिर पर भी अपार भीड़ देखी गयी ।कुल मिलाकर क्षेत्र के सभी शिव मंदिर पर भक्तों ने शिव जी के प्रति अपनी श्रद्धा जताई ।

No comments:

Post a Comment