Sunday, March 24, 2019

बीजेपी से कलराज मिश्र और परेश रावल ने किया चुनाव लड़ने से इनकार यह है कारण

आगामी लोकसभा चुनाव के लिए सत्ताधारी पार्टी भारतीय जनता पार्टी ने उम्मीदवारों की तीसरी लिस्ट जारी कर दी है। हालांकि पहले ही पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने 2019 में लोकसभा चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है।विदेश मंत्रीसुषमा स्वराज के बाद बीजेपी के वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र ने भी लोकसभा चुनाव लड़ने से मना कर दिया था। वहीं अब फिल्म अभिनेता और बीजेपी सांसद परेश रावल ने भी चुनाव ना लड़ने की इच्छा जताई है।कलराज मिश्रा के चुनाव लड़ने से मना करने के दो दिन बाद अब फिल्म अभिनेता और अहमदाबाद ईस्ट से भाजपा के सांसद परेश रावल ने चुनाव नहीं लड़ने की इच्छा जताई है। परेश रावल ने बीजेपी आलाकमान को इससे अवगत भी करा दिया है। परेश रावल फिलहाल अहमदाबाद ईस्ट से भाजपा के सांसद हैं।रावल ने मीडिया से बातचीत के दौरान शनिवार को कहा, 'मैंने चार-पांच महीने पहले ही पार्टी को बताया था कि मैं चुनाव नहीं लड़ना चाहता। लेकिन इस बारे में अंतिम फैसला पार्टी को लेना है।' हालांकि रावल का यह बयान तब आया है जब बीजेपी की पहली लिस्ट में उनका नाम नहीं आया।उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को सपोर्ट करते रहेंगे।
इसके पहले गुरुवार को बीजेपी की सूची आने से कुछ घंटे पहले देवरिया से बीजेपी सांसद कलराज मिश्रा ने कहा था कि वे चुनाव नहीं लड़ेंगे। बीजेपी सांसद कलराज मिश्र ने कहा कि, मैं इस बार चुनाव नहीं लड़ूंगा, मुझे पार्टी द्वारा कई अन्य जिम्मेदारियां दी गई हैं, इसलिए मेरा समय उसी के प्रति समर्पित रहेगा। बता दें कि केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र, सुषमा स्वराज और उमा भारती भी चुनाव न लड़ने की घोषणा कर चुके हैं गुरुवार को बीजेपी ने पहली लिस्ट जारी की थी जिसमें पार्टी ने पूर्व उपप्रधानमंत्री और वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी की जगह गांधीनगर से बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के नाम का ऐलान किया था। गांधीनगर लोकसभा सीट से अब अमित शाह लालकृष्ण आडवाणी की जगह पार्टी के उम्मीदवार होंगे।गुजरात में लोकसभा चुनाव की अधिसूचना 28 मार्च को जारी की जाएगी और 4 अप्रैल तक उम्मीदवार नामांकन दाखिल कर सकते हैं। गुजरात में 23 अप्रैल को एक ही चरण में 26 लोकसभा सीटों पर मतदान संपन्न होंगे।साल 2014 में परेश रावल ने अहमदाबाद पूर्वी क्षेत्र से बीजेपी के टिकट पर चुनावी मैदान में उतरे थे और जीत दर्ज कर लोकसभा पहुंचे थे। साल 2014 के चुनाव में परेश रावल ने कांग्रेस उम्मीदवार हिम्मत सिंह पटेल को करीब 3 लाख से अधिक वोटों से हराया था।पिछले चुनाव में जहां परेश रावल को 633,582 वोट मिले थे, वहीं हिम्मत सिंह को 306,949 वोट मिले। पिछले दस साल से इस सीट पर बीजेपी का कब्जा है। साल 2009 के चुनाव में हरिन पाठक ने बीजेपी के टिकट पर चुनाव में जीत दर्ज की थी।

No comments:

Post a Comment