Tuesday, March 19, 2019

अलविदा मनोहर पर्रिकर आपकी सादगी और लगन को सलाम

दिल्ली सहित सभी राज्यों की राजधानियों में तिरंगाआधा झुका रहेगा. गोवा में 7 दिन का शोक घोषित किया गया है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री समेत पूरे देश मनोहर पर्रिकर के निधन पर दुखी है.मनोहर पर्रिकर का निधन: गोवा के सीएम और पूर्व रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर का 63 साल की उम्र में रविवार देर शाम निधन हो गया. उनके निधन से पहले गोवा मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर बताया कि उनकी हालत नाजुक है और डॉक्टर अपनी हर संभव कोशिश कर रहे हैं. केंद्र सरकार ने आज राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है, आज दिल्ली सहित सभी राज्यों की राजधानियों में तिरंगा आधा झुका रहेगा. गोवा में 7 दिन का शोक घोषित किया गया है. आज केंद्रीय कैबिनेट की बैठक भी बुलाई गई है.चार बार गोवा के सीएम रहे पर्रिकर फरवरी 2018 से ही अग्नाशय के कैंसर से जूझ रहे थे. पिछले एक साल से बीमार चल रहे पर्रिकर का स्वास्थ्य दो दिन पहले बहुत बिगड़ गया था. मुख्यमंत्री के तौर पर अंतिम क्षण तक देश की सेवा में जुटे रहे मनोहर पर्रिकर ने गोवा के पणजी में आखिरी सांस ली. कैंसर की गंभीर बीमारी भी उन्हें काम से नहीं रोक पायी. उनके पास विकल्प था कि वो इलाज कराते हुए घर पर आराम करते लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया और वो अंत तक अपने प्रदेश की सेवा करते रहे.गोवा से पर्रिकर का प्यार इस कदर था कि रक्षामंत्री बनने के बाद भी वो रहते थे रक्षा मंत्रालय में थे लेकिन उनका दिल गोवा में ही रहता था. 2017 में जब गोवा के अंदर सरकार बनाने का पेंच फंसा थो वो रक्षामंत्री का पद छोड़ वापिस गोवा पहुंच गए. ये उनका करिश्माई नेतृत्व ही था कि कांग्रेस सबसे बड़ा दल होने के बावजूद भी सत्ता से दूर हो गई. छोटे-छोटे दलों ने पर्रिकर के नेतृत्व को तुरंत स्वीकार किया और राज्य में बीजेपी की सरकार बनी.राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मनोहर पर्रिकर को ट्वीट कर श्रद्धांजलि दी. राष्ट्रपति ने लिखा, ''गोवा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बारे में जानकर गहरा दुख हुआ. उन्होंने दृढ़ता और गरिमा से अपनी बीमारी का सामना किया. सार्वजनिक जीवन में सत्यनिष्ठा और समर्पण के प्रतीक रहे श्री पर्रिकर ने गोवा की और भारत की जो सेवा की है, वह हमेशा याद रखी जाएगी.'वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने पुराने साथी के दुनिया छोड़कर जाने पर उन्हें याद किया और श्रद्धांजलि दीप्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ''मनोहर पर्रिकर बेमिसाल नेता थे. एक सच्चे देशभक्त और असाधारण प्रशासक थे, सभी उनका सम्मान करते थे. देश के प्रति उनकी निस्वार्थ सेवा पीढ़ियों तक याद रखी जाएगी. उनके निधन से बहुत दुखी हूं. उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदनाएं. शांति.कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन की सूचना से मैं बहुत दुखी हूं. वह एक साल तक पूरे साहस से अपनी बीमारी से लड़ते रहे. दलगत राजनीति से इतर सभी उनका मान-सम्मान करते थे और वह गोवा के चहेते थे. दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजन के साथ हैं.जब दो साल पहले वह अस्पताल में उनकी मां सोनिया गांधी से मिलने आए थे. ‘‘ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे.’’ इनके अलावा बीजेपी अध्यक्ष शाह, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, नितिन गडकरी, पीयूष गोयल, प्रकाश जावडेकर, राम विलास पासवान, हर्षवर्द्धन, मेनका गांधी समेत कई लोगों ने पर्रिकर के निधन पर शोक व्यक्त किया.इसके साथ ही बॉलीवुड जगत ने भी पर्रिकर के निधन पर शोक जताया है. उनके निधन पर मेगास्टार अमिताभ बच्चन ने ट्वीट कर दुख व्यक्त किया है. अमिताभ बच्चन ने ट्वीट में लिखा, ''मनोहर पर्रिकर सीएम गोवा का निधन हो गया, वह एक जेंटलमैन थे, आचरण में सरल और सबसे सम्मानित थे, उनके साथ मैंने कुछ क्षण बिताए हैं. बहुत ही गरिमापूर्ण, उन्होंने अपनी बीमारी का बहादुरी से मुकाबला किया, प्रार्थना और संवेदना.'' पर्रिकर के निधन पर शोक जताने वालों में रणदीप हुड्डा, अनुपम खेर, दक्षिण के अभिनेता सिद्धार्थ और फिल्म निर्माता विवेक अग्निहोत्री भी शामिल हैं.मनोहर पर्रिकर देश के पहले आईआईटी के छात्र थे जो मुख्यमंत्री बने और चार बार उन्होंने गोवा की कमान संभाली. गोवा जैसे छोटे से राज्य का नेतृत्व करते हुए भी उनका व्यक्तित्व इतना महान था कि पूरा देश उन्हें याद कर रहा है.13 दिसंबर, 1955 में जन्मे पर्रिकर ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक के रूप में करियर शुरू किया. यहां तक कि आईआईटी बंबई से स्नातक करने के बाद भी वह संघ से जुड़े रहे. सक्रिय राजनीति में पर्रिकर का पदार्पण 1994 में पणजी सीट से बीजेपी टिकट पर चुनावजीतने के साथ हुआ।

No comments:

Post a Comment