Wednesday, March 27, 2019

भाजपा ने मुझे चुनाव लड़ने से रोका-मुरली मनोहर जोशी

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले मुरली मनोहर जोशी का एक लेटर सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोर रहा है। इस लेटर में उन्होंने लिखा, मेरे प्यारे कानपुर के मतदाता, भाजपा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री ने सलाह दी है कि कानपुर और उसके आलावा कहीं से भी मुझे चुनाव नहीं लड़ना चाहिए।फिलहाल कानपुर के वोटरों के बीच यह लेटर चर्चा का विषय बना हुआ है। इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि आपने लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का अपमान किया है सोमवार को भाजपा के संगठन महासचिव रामलाल ने मुरली मनोहर जोशी से मुलाकात की थी। रामलाल ने मुरली मनोहर जोशी से कहा कि पार्टी ने निर्णय लिया है कि, आपको चुनाव नहीं लड़वाया जाए। रामलाल ने कहा कि पार्टी चाहती है कि आप पार्टी ऑफिस आकर चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान करें। लेकिन डॉक्टर जोशी शीर्ष नेतृत्व से नाराज हो गए हैं। उन्होंने पार्टी कार्यालय आकर चुनाव न लड़ने का ऐलान करने से इंकार कर दिया है।दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने जोशी को टिकट नहीं दिए जाने के मुद्दे को लेकर बीजेपी पर तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट में लिखा, मोदी जी जिस तरह आपने बुजुर्गों आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का अपमान किया है। ये हिंदुसंस्कृति के खिलाफ है। हिंदू धर्म में अपने बुजुर्गों का सम्मान करना सिखाया गया है।कानपुर से सांसद डॉक्टर मुरली मनोहर जोशी को गंगा मेला के मौके पर कानपुर आना था। डॉ जोशी कानपुर की जनता से गले मिलकर गंगा मेला मनाना चाहते थे। लेकिन पार्टी हाई कमान से उन्हें जब सलाह दी गई कि आप को कहीं से भी चुनाव नही लड़ना चाहिए तो उन्होंने अपना कानपुर दौरा रद्द कर दिया।
2014 के लोकसभा चुनाव में डॉक्टर मुरली मनोहर जोशी ने पूर्व केंद्रीय कोयला मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल को 2 लाख 22 हजार 946 वोटों से हराया था। डॉक्टर जोशी को 4 लाख 74 हजार 712 वोट मिले थे और पूर्व कांग्रेस के श्रीप्रकाश जायसवाल को 2 लाख 51 हजार 766 वोट हासिल हुए थे। लेकिन अब हालात बदल चुके हैं, कांग्रेस का मानना है कि यदि डॉक्टर जोशी कानपुर से दोबारा चुनाव लड़ते है तो इसका फायदा कांग्रेस को मिलेगा, क्योंकि शहर की जनता में उनके खिलाफ आक्रोश व्याप्त है।

No comments:

Post a Comment