Thursday, April 25, 2019

ईवीएम का दूसरा रैंडमैजेसन हुआ सम्पन्न

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
कार्मिकों के द्वितीय रैण्डमाइजेशन के बाद बुधवार को प्रेक्षकों व राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों की मौजूदगी में जिला निर्वाचन अधिकारी डा0 नितिन बंसन ने ईवीएम का द्वितीय रैण्डमाइजेशन कराया। जिला सूचना विज्ञान अधिकारी गिरीश कुमार ने ईवीएम का रैण्डमाइजेशन किया। जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रेक्षकों के समक्ष राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों को ईवीएम की उपलब्धता और उसके आंवटन के बारे में पहले बताया फिर सर्वसम्मति से ईवीएम का रैण्डमाइजेशन किया गया। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि ईवीएम का रैण्डमाइजेशन विधानसभावार किया गया है। उन्होने बताया कि किस विधानसभा क्षेत्र में कौन-कोन सी ईवीएम जाएगीं, चिन्हांकन कर आवंटन करत हुए निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर ब्यौरा अपलोड कर दिया गया है। उन्होने कहा कि किस बूथ पर कौन सी ईवीएम भेजी जाएगी इसका निर्धारण अगले चरण में प्रेक्षकों के निर्देश पर कराया जाएगा।
रैण्डमाइजेशन के दौरान गोण्डा के सामान्य प्रेक्षक राजेन्द्र निम्बालकर, कैसरगंज के प्रेक्षक मधुकर अरदद, प्रभारी अधिकारी कार्मिक/सीडीओ आशीष कुमार, आरओ कैसरगंज आरआर प्रजापति, सभी एआरओ, भाजपा प्रतिनिधि केके श्रीवास्तव, राजाबाबू गुप्ता, बिन्देश्वरी सिंह लाल साहब तथा अन्य राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। पुलिस प्रेक्षक कैसरगंज का नम्बर जारी, दर्ज करा सकते हैं शिकायतकैसरगंज लाकसभा क्षेत्र के पुलिस प्रेक्षक महेश विजय का मोबाइल नम्बर जारी कर दिया गया है। कोई व्यक्ति लोकसभा क्षेत्र कैसरगंज अन्तर्गत निर्वाचन एवं पुलिस से सम्बन्धित शिकायतें दर्ज करा सकता है। प्रेक्षक के लाइजनिंग अफसर ने बताया कि प्रेक्षक का मोबाइल नम्बर 8765001024 है जिस पर काॅल की जा सकती है।मीडियाकर्मियों को ईवीएम व वीवीपैट का दिया गया प्रशिक्षणबुधवार को जिला पंचायत सभागार में जिले के पत्रकारों को इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन तथा वीवीपैट के बारे में प्रशिक्षण दिया गया तथा विस्तार से ईवीएम की बारीकियों तथा उसके सुरक्षा फीचर्स के बारे में बताया गया।सहायक प्रभारी अधिकारी कार्मिक प्रशिक्षण/पीडी सेवाराम चाौधरी ने बताया कि ईवीएम पूरी तरह सुरक्षित है और ईवीएम को किसी भी दशा में हैक नहीं किया जा सकता है। स्टेट मास्टर ट्रेनर धनन्जय त्रिपाठी ने मीडियाकर्मियों को ईवीएम के एक-एक फीचर, फंक्शनिंग एवं उसमें आने वाली समस्याओं तथा उनके निराकरण आदि के उपायों के बारे में भी बताया। वहीं मीडियाकर्मियों के सवालों के भी जवाब दिए गए। उन्होने बताया कि ईवीएम का आवंटन प्रथम स्तर की चेकिंग के बाद ही किया जाता है परन्तु फिर यदि फिर भी कहीं किसी ईवीएम मंे तकनीकी दिक्कत आती है तो उसके लिए अलग-अलग व्यवस्थाएं कराई गई हैं। बताया कि वीवीपैट में खराबी आने पर सिर्फ वीवीपैट कांे ही बदलकर दूसरी वीवीपैट लगाई जाती है, परन्तु कन्ट्रोल यूनिट में खराबी आने पर पूरी मशीन यानी कन्ट्रोल यूनिट, वीवीपैट  वीयू तीनोे चीजें बदली जाएगीं। इसके अलावा कुल बूथों के हिसाब से अतिरिक्त 15 प्रतिशत मशीनों को रिजर्व में रखा गया है जिससे कहीं भी खराबी की सूचना मिलने पर उसे तत्काल बदला जा सके और निर्वाचन कार्य सुचारू रूपसे सम्पन्न कराया जा सके।
प्रशिक्षण के दौेरान वरिष्ठ पत्रकार जानकी शरण द्विवेदी, कैलाशनाथ वर्मा, बजरगंज त्रिपाठी, हेमन्त पाठक, कल्ेब वसी मोहसिन, अंकुर गर्ग, महेन्द्र तिवारी, नरेन्द्र लाल गुप्ता, प्रान्जल पाण्डेय, राहुल तिवारी, मो0 आमिर, किशोर जायसवाल, अतुल यादव, मनोज मौर्य, पंकज तिवारी, अमित पाण्डेय तथा अन्य पत्रकार मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment