Saturday, April 20, 2019

पाकिस्तान में कोई भी वित्त मंत्री बनने को नही है तैयार जाने क्यों

आतंक परस्त पाकिस्तान बुरे आर्थिक दौर से गुजर रहा है उसके पास कर्ज चुकाने तक के पैसे नहीं हैं और महंगाई आसमान छू रही है. अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से समय पर राहत पैकेज नहीं मिला और इसके लिए शर्तें रखी गई है. वित्तीय संकट में फंसा पाकिस्तान और इमरान की सरकार के लिए एक नई मुसीबत पैदा हो गई है दरअसल, पाक में वित्त मंत्रालय कांटों का ताज बन चुका है और मंत्री पद का को संभालने के लिए कोई नेता तैयार नहीं दिख रहा है वित्त मंत्री असद उमर ने इस्तीफा दे दिया था और कोई भी मंत्रालय सम्हालने से इंकार कर दिया. इस बीच एक और मंत्री ने इमरान के पोर्टफोलियो बदलने के फरमान को मानने से इनकार कर दिया है. इमरान खान ने अपनी कैबिनेट में गुरुवार को ही बदलाव किया है.पाकिस्तानी न्यूज जिओटीवी की रिपोर्ट्स के मुताबिक, इमरान की कैबिनेट में बदलाव के ऐलान के बाद वहां के एक मंत्री गुलाम सरवर खान ने भी वैकल्पिक मंत्रालय संभालने से इनकार कर दिया है. गुलाम सरवर अभी तक पेट्रोलियम मिनिस्ट्री संभाल रहे थे और कैबिनेट में फेरबदल के तहत उन्हें एविएशन मिनिस्ट्री दिया गया था लेकिन सरवर ने इसे संभालने से इनकार कर दिया है क्योंकि सरवर इस बदलाव से असहमत बताए जा रहे हैं.
इमरान के अनुरोध के बावजूद वित्त मंत्री असद उमर ने भी वैकल्पिक मंत्रालय संभालने से इनकार कर दिया था और वित्त मंत्री पद से भी इस्तीफा दे दिया. इस बीच पीएम इमरान खान वित्त मंत्री का पद किसी को देना नहीं चाह रहे और उन्होंने हफीज शेख को वित्तीय सलाहकार नियुक्त किया है IMF से बेलआउट पैकेज पर बात कर अमेरिका के दौरे से वित्त मंत्री उमर असद हाल में ही लौटे थे, जहां वह पाकिस्तान को IMF से मिलने वाले पैकेज को अंतिम रूप देने के लिए गए थे लेकिन उन्हें इस्तीफा देना पड़ा और उन्होंने कहा हालांकि मैंने उनसे कैबिनेट में कोई पद नहीं लेने पर प्रधानमंत्री से रजामंदी ले ली है.

No comments:

Post a Comment