Friday, April 5, 2019

दबंग कोटेदार निगल रहे गरीबों का निवाला

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी 
गोंडा जनपद में रासन वितरण प्रणाली सुधारने की जगह दिन दिन विगड़ती जा रही है ।सरकार जहां नित्य नए नियम बनाकर भरस्टाचार को खत्म करने का प्रयास कर रही लेकिन वही भरसटाचारी उससे बचने के लिये मार्ग का चयन कर ही लेते है ।जहाँ एक तरफ योगी सरकार आम जन मानस को राहत देने का प्रयास कर रही है ।लेकिन भरस्टाचार फिर भी कम होने की जगह बढ़ता जा रहा है ।जिसका जीता जाता उदाहरण इटियाथोक विकाश खंड के सेखुई ग्राम पंचायत के कोटेदार पर सटीक बैठती है ।जब संवाददाता की टीम गांव में पहुची तो वहाँ ग्रामीणों ने अपनी व्यथा बताई जिसे सुनकर यही लगा कि योगी सरकार भरस्टाचार रोकने में कामयाब नही हो पा रही है ।ग्रामीणों में दौलत तिवारी ,भोला नाथ मिश्र ,शत्रुहन मिश्र ,देवेंद्र ,विश्वजीत जैसे तमाम लोग का कहना है कि कोटेदार मिट्टी तेल देने के नाम पर मसीन पर अंगूठा लगवा लेता है और जब रासन की बात करते है तब बताता है कि आपके नाम का रासन आया ही नही है ।जबकि नेट पर रासन कार्ड साफ सुथरा बताता है ।और धमकी देता है कि जाओ जो करना है कर लो कुछ नही होने वाला है ।इस तरह ग्रामीणों के हक़ पर यह दबंग कोटेदार डाका डाल रहा है वही शिकायत करने के बाद अधिकारी जाँच की खाना पुर्ति करके चले जाते है ।उसके बाद कहता जाओ अधिकारी क्या कर लेंगे ज़्यादा से ज्यादा कुछ पैसे लेंगे और क्या करेंगे ।यह कोटेदार योगी सरकार को खुला चैलेंज देता है कि जाओ योगी से रासन ले लो शिकायत करके मेरे कुछ नही कर पाओगे ।अब देखना दिलचस्प होगी सरकार ऐसे कोटेदार पर क्या कार्यवाही करती है ।यह तो एक बानगी ऐसे कई कोटेदार गोंडा जनपद में है जो सरकार की जीरो टोरलेंस की नीति की धज्जिया उड़ा रहे है ।इससे साफ है कि प्रशासन भी इसमें पुरी तरह शामिल है ।

No comments:

Post a Comment