Tuesday, April 9, 2019

गोंडा के इस मजरे के लोगो का है राजनीति के प्रति गुस्सा

  गोंडा पवन कुमार द्विवेदी
गोंडा के इस गांव में राजनैतिक दलों की नो एंट्री बुनियादी सुविधाओं से वंचित ग्रामीणों ने किया मतदान बहिष्कार का ऐलान विदित हो कि तहसील मुख्यालय व कस्बे से सटी ग्राम पंचायत कादीपुर के मजरे लालापुरवा मे रहने वाले ग्रामीणों ने गांव में सभी राजनैतिक दलों की एंट्री पर रोक लगा दी है। साथ ही लोकसभा चुनाव में मतदान के बहिष्कार का ऐलान किया है। ग्रामीणों का आरोप है कि गांव मे न तो सड़क है और न ही बिजली। गांव के अधिकतर परिवार छप्पर रखकर किसी तरह गुजर बसर कर रहे हैं लेकिन उन्हे प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नहीं मिला। किसी भी राजनैतिक दल के नेता ने यहां के लोगों की सुधि नहीं ली। अब चुनाव में इन दलों के नेताओं को गांव मे घुसने नहीं दिया जाएगा।
कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र के तहत आने वाला करनैलगंज के कादीपुर गांव का मजरा लालापुरवा बुनियादी सुविधाओं से वंचित है। गांव में करीब 40 परिवार हैं। आबादी करीब तीन सौ है। इनमें से अधिकांश परिवारों के पास आवास के नाम पर फूस के आशियाने हैं। गांव में सड़क,बिजली, पानी का पूरी तरह से अभाव है। गांव में बिजली लगाने के लिए पोल तो गाड़े गए हैं लेकिन इन पर तार नहीं खींचे जा सके हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना व स्वच्छ भारत अभियान की किरण भी इस गांव तक नहीं पहुंची है। गांव के रामसेवक, सुंदरलाल, रामनरेश, रामशरन, बड़का व ननकई का कहना है कि गांव में बिजली के लिए खम्भे कई महीने पहले लगे थे लेकिन तार अब तक नहीं खींचा जा सका है।गांव के ही रामदीन ने बताया कि गांव को मुख्य मार्ग से जोड़ने के लिए कोई रास्ता नही है। बरसात में दो माह तक लोग पानी एंव कीचड़ मे घुसकर गांव तक आते जाते हैं। गांव की लक्ष्मी ने बताया कि पूरे गांव में एक भी गरीब को आवास का लाभ नही दिया गया। राम नारायन,राजू,तिलकराम, माधवराज, राम समोखन, कृपाराम, विनोद कुमार, गया प्रसाद, रामतेज, रामफेर, दिनेश कुमार, कृष्णा प्रसाद, चन्द्रिका प्रसाद,राजेश कुमार व लौटन आदि ने कहा कि चुनाव में वोट मांगने के लिए आने वाले राजनैतिक दलों के नेता वादा तो बहुत करते हैं लेकिन चुनाव जीतने के बाद कोई हाल लेने नहीं आता और इनके दर्शन दुर्लभ हो जाते हैं।नेताओं की बेरुखी से इस गांव के लोगों, खासकर महिलाओं मे जबरदस्त आक्रोश है। इन महिलाओं की अगुवाई में ही इस बार ग्रामीणों ने गांव मे राजनैतिक दलों के प्रत्याशियों की एंट्री बैन कर दी है। गांव की बड़का,कलावती,मालती देवी,पूजा गौतम, रजनी, संझला,अंजनी,तारा,छोटका बबली,मंझला,मीना,फूलमती, बदामा,पिंकी,मुरैला,शत्रोहन,उमा देवी, रिंकी कुमारी, रमकला, सुनीता,शीला,पूनम,शिव प्यारी आदि का कहना है कि किसी भी प्रत्याशी को गांव में नहीं घुसने दिया जायेगा। जब तक गांव में सड़क, बिजली व आवास की सुविधा नहीं मिलती है तब तक गांव के लोग मतदान नहीं करेंगें  ।।

No comments:

Post a Comment