Saturday, May 11, 2019

मण्डलायुक्त ने गेंहू खरीदी में ढील ढाल पर अधिकारियों को दी चेतावनी

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
देवीपाटन मण्डल के आयुक्त महेन्द्र कुमार ने मण्डल में अब तक लक्ष्य के सापेक्ष गेहूं खरीद की बेहद धीमी खरीद पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए सख्त चेतावनी दी कि सभी क्रय ऐजन्सियों के जिम्मेदार अधिकारी तत्काल गम्भीर हो जाएं वरना उनके निरीक्षण में गलती मिलने पर और गेहूं बेचने वाले किसानों का भुगतान 72 घन्टे के अन्दर न होेना पाए जाने पर वे दोषी को तत्काल निलम्बित करते हुए एफआईआर दर्ज कराएगें।
कैम्प कार्यालय पर आयोजित बैठक में मण्डलायुक्त ने मण्डल के जनपदों में आवंटित लक्ष्य के सापेक्ष गेहूं खरीद की समीक्षा की तो ज्ञात हुआ कि देवीपाटन मण्डल में इस वर्ष दो लाख छासठ हजार नौ सौ मीटरिक टन गेहूं की खरीद की जानी है परन्तु अब तक 80052 मीटरिक टन ही गेहूं खरीदा जा सका है। गौरतलब है कि इस वर्ष गेहूं खरीद के लिए गोण्डा में खाद्य विभाग के 16, पीसीएफ के 40, यूपी एग्रो के 01, यूपीपीसीयू के 29, यूपवीएसएस के 12 तथा भारतीय खाद्य निगम के 01 क्रय केन्द्र सहित कुल 99, जनपद बलरामपुर में खाद्य विभाग के 9 तथा पीसीएफ के 27 केन्द्रों सहित कुल 36 क्रय केन्द्र, जनपद बहराइच में खाद्य विभाग के 14, पंजीकृत समिति के 01, पीसीएफ के 88, यूपी एग्रो के 03, यूपीपीसीयू के 30, यूपीएसएस के 10, नैफेड के 03 तथा भारतीय खाद्य निगत के 1 केन्द्रों सहित कुल 150 क्रय केन्द्र व श्रावस्ती में खाद्य विभाग के 5, पीसीएफ के 33 व भारतीय खाद्य निगम के 01 केन्द्र सहित 39 केन्द्रों को मिलाकर मण्डल में 324 क्रय केन्द्र बनाए गए हैं। क्रय के लिए आवंटित लक्ष्य के अनुसार गोण्डा में 71 हजार मीटरिक टन के सापेक्ष मात्र 16857 मीटरिक टन, बलरामपुर में 32500 के सापेक्ष 11958 मीटरिक टन, बहराइच में 130500 मीटरिक टन के सापेक्ष 40919 मीटरिक टन तथा श्रावस्ती में 32900 मीटरिक टन के सापेक्ष 10318 मीटरिक टन गेहूं सहित कुल 80052 मीटरिक टन गेहूं खरीद गया है। आयुक्त ने स्पष्ट चेतावनी दी कि यदि किसी भी किसान का गेहूं खरीदने के 72 घन्टे के अन्दर भुगतान नही किया जाता है तो दोषी को तत्काल निलम्बित करते हुए एफआईआर दर्ज कराने की कार्यवाही की जाएगी। कई क्रय केन्द्रों के समय से न खुलने तथा कर्मचाारियों के न पहुंचने की शिकायत का संज्ञान लेते हुए मण्डलायुक्त ने सभी उिप्टी आरएमओ को सख्त निर्देश दिए है कि वे स्वयं केन्द्रों की मानीटरिंग करें ओर लापरवाही बरतने वाले केन्द्र प्रभारी व अन्य जिम्मेदारों के खिलाफ एक्शन लें। उन्होने निर्देश दिए कि सभी क्रय केन्द्रों पर बोरों की उपलब्धता के साथ किसानों के बैठने, पेयजल आदि की भी व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाय। वहीं शुक्रवार को मण्डलायुक्त ने गोण्डा के कई गेहूं क्रय केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया और किसानों से वार्ता कर जानकारी ली।
बैठक में सम्भागीय विपणन अधिकारी देेवीपाटन मण्डल दिनेश शर्मा, यूपीएसएस आरएम शैलेन्द्र कुमार, पीसीयूू आरएम जितेन्द्र कुमार, पीसीएफ आरएम वीएस कुशवाहा, यूपी एग्रो प्रबन्धक विश्वनाथ, डिप्टी आरएमओ गोण्डा लाल बहादुर गुप्ता सहित अन्य क्रय ऐजन्सियों के अधिकारी मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment