Wednesday, May 15, 2019

सातवें चरण के मतदान की तैयारियां सुरु

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी

लोकसभा चुनाव लड़ने वाले  प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होने में कुछ दिन ही शेष बचे हैं। 23 मई को सुबह आठ बजे से बहराइच रोड स्थित नवीन गल्ला मण्डी में मतगणना होगी। सबसे पहले पोस्टल बैलेट्स की गिनती अतिरिक्त टेबल्स पर होगी उसके बाद ईवीएम में कैद वोटों की गिनती शुरू होगी।मंगलवार को जिला निर्वाचन अधिकारी डा0 नितिन बंसल ने रिटर्निंग आफीसर कैसरगंज, उपजिला निर्वाचन अधिकारी तथा सभी सहायक रिटर्निंग आफीसरों के साथ बैठक कर मतगणना की तैयारियों की रूपरेखा तय की और सख्त निर्देश दिए। मतगणना के लिए नवीन गल्ला मण्डी में तैयारियां शुरू हो गई हैं। इसके साथ ही प्रत्याशियों को एजेंटों की नियुक्ति के निर्देश जारी किए गए हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी डा0 नितिन बसंल ने बताया कि मतगणना के समय प्रत्याशियों के एजेंट हर टेबल पर मौजूद रहेंगे। उनके सामने ही मतगणना होगी। इसके लिए एजेंटों की नियुक्ति व प्रत्याशी के मतगणना स्थल पर मौजूद रहने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं। मतगणना के लिए एजेंटों की नियुक्ति के लिए प्रत्याशियों को आयोग के निर्देशों का पालन करना होगा। उन्होने बताया कि गोण्डा गल्ला मण्डी में गोण्डा जिले की सातों विधानसभाओं के वोटों की गिनती होगी जबकि कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र अन्तर्गत दो विधानसभाओं कैसरगंज व पयागपुर के वोटों की गिनती बहराइच व गोण्डा लोकसभा क्षेत्र अन्तर्गत जनपद बलरामपुर की विधानसभा उतरौला के वोटों की गिनती जनपद बलरामपुर में होगी। विधानसभावार गणना के आंकड़े एआरओ द्वारा मिलान करते हुए जारी किए जाएंगे। मतगणना के पहले निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त प्रेक्षकों की उपस्थिति में स्ट्रान्ग रूम खुलवाए जाएंगें। 14-14 टेबलों पर होगी हर विधानसभा क्षेत्र की मतगणना जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मुख्य गणना के लिए हर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में 14 गणना टेबल, तथा पोस्ट बैलेट्स की गणना अतिरिक्त टेबल्स पर होगी। इस तरह 15 टेबलों पर मतगणना कराई जाएगी। प्रत्याशी सभी 15 टेबल पर अपना एक-एक एजेंट नियुक्त कर सकेगा। किसी भी गणना एजेंट को आवंटित टेबल के अलावा दूसरी टेबल व विधानसभा में जाने की इजाजत नहीं होगी और यदि कोई भी एजेन्ट इसका उल्लंघन करेगा तो उसे मतगणना कक्ष से बाहर कर दिया जाएगा। विधानसभावार निर्वाचन क्षेत्र में चक्रवार गणना अलग-अलग होगी। इसके लिए किस टेबल पर कौन से मतदेय स्थल की गणना की जाएगी, इसका विवरण तैयार कराया जा रहा है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्देश दिए है कि बूथवार ईवीएम नम्बर, मशीन उठाने वाले कर्मचारी का नाम, स्ट्रांग रूम का प्रभारी आदि का समपूर्ण ब्यौरा दो दिन के अन्दर तैयार कर प्रशिक्षण कार्य करा लिया जाय जिससे मतगणना निर्वाध रूप से सम्पन्न हो सके। मीडियाकर्मियों को अपडेट देने के लिए मीडिया सेन्टर बनाया जाएगा जहां सेे उन्हें मतगणना के रूझान प्राप्त हो सकेगें।मतगणना केंद्र पर मोबाइल व ज्वलनशील पदार्थ लेे जाने पर रहेगा कड़ा प्रतिबंध, त्रिस्तरीय चेकिंग के बाद ही मिलेगी एन्ट्री
जिला निर्वाचन अधिकारी ने स्पष्ट किया है कि मतगणना के दौरा निर्वाचन आयोग के निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन कराया जाएगा। मतगणना एजेन्टों को पास के लिए तीन दिन पहले आवेदन करना होगा। जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा मतगणना एजेन्टों को फोटोयुक्त पास जारी किया जाएगा। प्रत्याशी, चुनाव एजेंट और गणना एजेंट को किसी भी तरह के ऐसे उपकरण मोबाइल, लैपटाप, अन्य कोई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण आदि को मतगणना केंद्र पर ले जाने की अनुमति नहीं होगी जिससे कोई आडियो या वीडियो की रिकार्डिंग की जा सकती हो। इसके अलावा मतगणना केन्द्र पर सिगरेट, बीड़ी, माचिस, लाइटर आदि लेकर जाना सख्त मना होगा। मण्डी गेट से लेकर मतगणना स्थल तक सुरक्षा कर्मियों द्वारा तीन जगहों पर चेकिंग की जाएगी और चेकिंग की पूरी वीडियोग्राफी भी होगी। इसके अलावा पूरे मतगणना कार्य का सर्विलान्स सीसीटीवी कैमरों के जरिए किया जाएगा।यह नहीं बन सकेंगे मतगणना एजेंटजिला निर्वाचन अधिकरी ने स्पष्ट किया है केंद्र व राज्य सरकार से सुरक्षा प्राप्त कोई भी व्यक्ति मतगणना एजेंट नियुक्त नहीं हो सकेगा। जिसमें केंद्र और राज्य सरकार का कोई मंत्री, संसद सदस्य, विधानसभा, विधान परिषद के सदस्य, शहरी स्थानीय निकायों के प्रमुख, अध्यक्ष, निगम के महापौर, नगर पालिका, नगर पंचायत के अध्यक्ष शामिल हैं। इसी तरह से जिला स्तरीय जिला परिषद, ब्लाक स्तर पंचायत समिति के अध्यक्ष, राष्ट्रीय, राज्य, जिला सहकारी संस्थाओं के निर्वाचित अध्यक्ष, राजनैतिक पदाधिकारियों को केंद्रीय व राज्य सार्वजनिक उपक्रमों के अध्यक्षों, सरकारी निकायों के अध्यक्ष, सरकारी अधिकारी, अतिरिक्त सरकार के रूप में नियुक्त किए जाने वाला व्यक्ति, सरकारी कर्मचारी भी एजेंट नहीं बनेंगे।हर विधानसभा की पांच-पांच वीवीपैट मशीनों की पर्चियों का होगा मिलाननिर्वाचन की सुचिता व पारदर्शिता के दृष्टिगत भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश हर विधानसभा की पांच-पांच वीवीपैट मशीनों की पर्चियों का मिलान ईवीएम में पड़े वोटों से किया जाएगा। वीवीपैट मशीनों का चयन लाटरी या रैण्डम बेसिस पर होगा। उन्होने बताया के वीवीपैट मशीनों का मिलान मतगणना कार्य के बाद होगा।मण्डी गेट से सौ मीटर पहले रहेगी पार्किंगमतगणना के दौरान यातायात व्यवस्था भी चुस्त दुरूस्त रखी जाएगी। प्रभारी अधिकारी यातायात नगर मजिस्ट्रेट राकेश सिंह ने बताया कि मतगणना स्थल गल्ला मण्डी में किसी भी प्रत्याशी या एजेन्ट व मतगणना कर्मी के वाहन कतई प्रवेश नहीं करेगें। मण्डी गेट से दोनों तरफ सौ मीटर पहले वाहनों की पार्किंग कराई जाएगी। लोगों को वहीं पर वाहन खड़े करके मतगणना स्थल तक पैदल जाना होगा।

No comments:

Post a Comment