Thursday, May 16, 2019

स्कूल इस तरह से लुटता है अभिभावक मूकदर्शक बन देखते रह जाते है

दिल्ली के नामी प्राइवेट स्कूल- ए.पी.जे, शेख़ सराय, का पेरेंट्स की शिकायत पर ऑडिट कराया तो स्कूल के पास 31 करोड़ का सरप्लस निकला. सरकार ने स्कूल की फ़ीस बढ़ाने पर रोक लगा दी है और पिछले साल वसूली गई फ़ीस में से बची 2.09 करोड़ की राशि पेरेंट्स को लौटाने के निर्देश दिए हैं. इसके अलावा सरकार ने स्कूल के पास अवैध तरीक़े से रोककर रखी गई 3.13 करोड़ की सिक्योरिटी फ़ीस की राशि भी पुराने पेरेंट्स को लौटाने के निर्देश दिए हैं स्कूल के ऑडिट में कई हेराफेरी पकड़ी गई. सबसे बड़ी ये है कि स्कूल ने पेरेंट्स से ली गई फ़ीस में से 14 करोड़, पंचशील एंकलेव में कमर्शियल कॉम्प्लेक्स की ज़मीन ख़रीदने और इमारत बनाने में ख़र्च दिए. जबकि कोई स्कूल फ़ीस के पैसे का इस्तेमाल स्कूल के बाहर किसी काम पर नहीं कर सकता. इतना ही नहीं...पेरेंट्स से ली गई फ़ीस से अवैध तरीक़े से जो कमर्शियल कॉम्प्लेक्स बनाया गया उसका किराया भी स्कूल के पास नहीं आ रहा. वह कहीं और जा रहा है. 31 करोड़ रुपए सरप्लस होने के बावजूद एपीजे स्कूल ने ना तो अपने शिक्षकों को सातवें वेतन आयोग का वेतन दिया और न ही ग्रेचूटी दी. कर्मचारियों को पीएफ भी नहीं दिया.

श्रीकांत बैध

No comments:

Post a Comment