Friday, May 31, 2019

ठोस अपशिस्ट प्रबन्धन को लेकर आयुक्त ने की मण्डलीय समीक्षा

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
गोंडा।सभी अधिशासी अधिकारी 15 दिनों के अन्दर अपनी-अपनी नगरपालिका या नगर पंचायतों में ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन के लिए जमीन की व्यवस्था कर रिपोर्ट दें। इस कार्य में यदि किसी भी स्तर पर लापरवाही पाई गई तो जिम्मेदारों के खिलाफ कठोर कार्यवाही होगी। यह निर्देश देवीपाटन मण्डल के आयुक्त महेन्द्र कुमार ने आयुक्त कैम्प कार्याललय पर आयोजित मण्डलीय ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन की समीक्षा बैठक के दौरान दिए हैं।बुधवार को आयुक्त की बैठक में कूड़ा निस्तारण के लिए स्थान की उपलब्धता, जन-जागरूकता और जन सहयोग में कमी होना, उपभोक्ता शुल्क वसूलने में कठिनाइयां, रख-रखाव के लिए पृथक से बजट, अनुदान की कमी संबंधी समस्याओं पर चर्चा की गई। मण्डलायुक्त ने सभी विभागों को ठोस अपशिष्ठ प्रबंधन संबंधी जन-जागरूकता बढ़ाने, जनसहयोग प्राप्त करने और सभी विभागों को आपसी समन्वय के साथ कार्य करने पर बल देने के निर्देश दिए। आयुक्त ने साफ शब्दों में कहा कि सरकार की सर्वोच्च प्राथामिकता है कि नगरीय क्षेत्रो में साफ-सफाई को बेहतर बनाया जाय जिसके लिए कूड़ें व अन्य ठोस अपशिष्ट पदार्थों का समुचित निस्तारण नितान्त आवश्यक है। इसलिए सभी ईओ 15 दिनों के अन्दर अपने अपने क्षेत्र में जमीन का चिन्हांकन कर लें जिससे कूड़ा निस्तारण के लिए स्थाई व्यवस्था बनाई जा सके। अपशिष्ट प्रबन्धन के अलावा मण्डलायुक्त ने सीवर लाइन एवं नालियों की साफ- सफाई रोसटरवार कराने के निर्देश दिए। पेयजल की समीक्षा के दौरान ज्ञात हुआ कि मण्डल के जनपद गोण्डा में 41 के सापेक्ष 40, बहराइच में 29 के सापेक्ष 28, बलरामपुर में 28 के सापेक्ष 25 तथा श्रावस्ती में 7 के सापेक्ष 6 सहित मण्डल में कुल 105 के सापेक्ष 99 नलकूप कार्यरत हैं। इसी प्रकार गोण्डा में 8297, बलरामपुर 4141, बहराइच 3482 तथा श्रावस्ती में 1611 सहित कुल 17581 मार्ग प्रकाश हैं जिनमें से इस माह 816 खराब हुए नलकूपों के सापेक्ष 674 नलकूूपों को दुरूस्त कराया जा चुका है। वसूली कार्य में मण्डल के लक्ष्य 1593 लाख रूपए के लक्ष्य के सापेक्ष वसूली कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा बैठक में आयुक्त ने 14वां वित्त आयोग से प्राप्त धनराशि की समीक्षा, कान्हा पशु आश्रय, आदर्श नगर योजना, पण्डित दीन दयाल उपाध्याय नगर योजना,नदी झील, पोखर संरक्षण योजना तथा अन्त्येष्टि योजना के बारे में जनपदवार समीक्षा तथा अधिकारियों को सख्त निर्देश  दिए।बैठक के दौरान एडीएम बहराइच, नगर मजिस्ट्रेट गोण्डा राकेश सिंह, मण्डल की सभी नगर पालिका एवं नगर पंचातयों के अधिशासी अधिकारीगण, स्वच्छ भारत मिशन के प्रतिनिधि तथा अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment