Sunday, June 16, 2019

मनरेगा में घोटाला करने वालों पर तनी सीडीओ की भौंहे जांच सुरु

पवन कुमार द्विवेदी
मनरेगा योजना में ज्यादा बजट खर्च करने वाली ग्राम पंचायतें अब जिला प्रशासन के राडार पर आ गई हैं। वहीं  ऐसी ग्राम पंचायतों पर सीडीओ आशीष कुमार की भौंहें तन गई हैं। जल्द ही ऐसी ग्राम पंचायतें जहां पर मनरेगा में सबसे ज्यादा पेसा खर्च हुआ है और बिना काम कराएं ही भुगतान निकाल लिया गया है, के ग्राम प्रधान व अन्य जिम्मेदारों के खिलाफ नजीर बनने वाली कार्यवाही होने जा रही है।बताते चलें कि जिले के कई विकासखण्डों में मनरेगा योजना के तहत ग्राम पंचायतों में बिना अनुमति बड़े पैमाने पर खर्चा किये जाने और काम कराए ही पैसा निकाल की शिकायतें जिला प्रशासन को विभिन्न माध्यमों से प्राप्त हो रही थीं। सीडीओ आशीष ने मामलों का संज्ञान लेते हुए ऐसी ग्राम पंचायतों की जांच करानी शुरू कर दी है जिसमें अनियमतिता होने की पुष्टि पाई गई है। अब ग्राम पंचायत के प्रधान व सचिव के खिलाफ एक्शन होने जा रहा है। शनिवार को सीडीओ द्वारा विकासखण्ड कटरा बाजार की ग्राम पंचायत बिरवा की जांच कराई गई तो भारी अनियामितता का मामला पकड़ में आया। पता चला कि इस ग्राम पंचायत में मनरेगा से 14 इन्टर लाकिंग के कार्य कराए गए जिनमें जांच करने पर पाया गया कि एक भी कार्य नहीं कराया गया ओर पेमेन्ट निकाल लिया गया। सीडीओ आशीष कुमार ने कार्य वार जानकारी देते हुए बताया कि बिरवा के कोरीपुरवा में सियाराम के घर से राजाराम के घर तक इन्टरलाकिंग, बिरवा में सकूरे के घर से मस्जिद तक इन्टर लाकिंग, बिरवा में शिवसरन के घर से नरेश के घर तक  इन्टरलाकिंग, बिरवा सल्लर के घर से बुधई कुम्हार के घर तक इन्टरलाकिंग,  बिरवा में चुनमुन ओझा के बाग से सुबिनते ओझा के घर तक इन्टरलाकिंग, बिरवा में साहेबराम के घर से सल्लर के घर तक इन्टरलाकिंग, बिरवा में मिनसाद के घर से इदरीश के घर तक इन्टरलाकिंग कार्य, बिरवा में बाबादीन के घर से कियान कुमार के घर तक इन्टरलाकिंग कार्य, बिरवा में किशन कुमार के घर से राम श्ंाकर के घर तक इन्टर लाकिंग कार्य, बिरवा में जगप्रसाद के घर से ननकऊ के घर तक इन्टरलाकिंग, बिरवा में रामपाल के घर से नन्हे के घर तक इन्टर लाकिंग कार्य, बिरवा में सुखदेव के घर से शान्ती के घर तक इन्टरलाकिंग कार्य, बिरवा में गिल्लन के घर से नहर तक इन्टर लाकिंग का कार्य तथा बिरवा में कैलाश के घर से रामजस के घर तक इन्टर लाकिंग का कार्य कराया जाना था जिसके सापेक्ष सल्लर के घर से बुधई के घर तक वाली इन्टरलाकिंग कार्य पर मात्र 48 मीटर इन्टर लाकिंग लगाकर अधूरा काम छोड़ दिया और सभी बाकी कार्य बिना कराए ही पूर्ण दिखाते हुए सरकारी धन निकाल लिया गया। सीडीओ ने बताया कि ग्राम पंचायत के प्रधान व सचिव के साथ-साथ अन्य शामिल लोगों के खिलाफ कार्यवाही होने जा रही है। उन्होने कहा कि ऐसी सभी ग्राम पंचायतों की जांच होगी और कठोर कार्यवाही होगी जिससे आगे कोई भी भ्रष्टाचार करने की हिम्मत नहीं जुटा पाएगा। उन्होने यह भी बताया कि दो और ग्राम पंचायतोे बनगांव और उर्दी गोण्डा में भी जांच में पाया गया कि दोनों ग्राम पंचायतों में भी बिना काम कराए ही पेसा निकाल लिया गया जिसके खिलाफ भी कार्यवाही होने जा रही है।

No comments:

Post a Comment