Monday, June 10, 2019

प्रभारी मंत्री ने विकास कार्यो की समीक्षा बैठक में दिखाए तल्ख रुख बोले कोताही बर्दास्त नही होगी

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
रविवार को जिले के प्रभारी मंत्री उपेन्द्र तिवारी की अध्यक्षता में जिला पंचायत सभागार में विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की गई। समीक्षा बैठक में प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों को सुधर जाने की चेतावनी देते हुए कहा कि अब लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को कोई भी मौका नहीं दिया जाएगा।
  समीक्षा बैठक में कई विभागीय अधिकारी प्रभारी मंत्री के निशाने पर रहे। जून अन्त तक सभी योजनाओं में प्रगति लाने की चेतावनी दी गई है। बैठक में स्वास्थ्य विभाग, सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जे, अवैध शराब के निर्माण व गोरखधन्धे के खिलाफ कार्यवाई, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, विद्युतीकरण, विभिन्न पेंशन योजनाओं, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, गेहूं खरीद, खाद्यान्न वितरण, गन्ना मूल्य भुगतान, मनरेगा कार्य, जीपीडीपी, चकबन्दी मामले, लोकवाणी व जनसेवा के अवैध संचालन व वसूली, श्रम विभाग में मजूदरों का फर्जी पंजीकरण जैसे कई अहम विभागों व योजनाओं के बारे में गहन समीक्षा की गई।  समीक्षा बैठक की शुरूआत प्रभारी मंत्री ने राजस्व विभाग व कानून व्यवस्था से की। उन्होने एडीएम को निर्देश दिए कि इस माह के अन्त तक बड़े भूमाफियाओं का चिन्हांकन कर कार्यवाही करें। तहसील सदर की ग्राम पंचायत जमदरा में चारागाह की जमीन, नगर क्षेत्र में कई सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जे, नजूल की भूमि पर होने वाले अतिक्रमण पर नगरपालिका द्वारा कोई कार्यवाही न करना, मैजापुर में गोशाला की जमीन पर अवैध कब्जा आदि की शिकायत पर प्रभारी मंत्री ने नाराजगी व्यक्त करते हुए जिम्मेदार अधिकारियों को कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। नगरपालिका एवं नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारियों को सख्त चेतावनी दी कि लगातार नजूल की जमीनों पर अवैध कब्जों  व निर्माण की शिकायतें मिल रही है। उन्होने डीएम को निर्देश दिए कि पूरे मामले की जांच कराकर प्रभावी कार्यवाही करें। जनसेवा केन्द्रों व लोकवाणी केन्द्रों का आवंटित जगहों पर संचालन न किया जाना व ग्राहकों से निर्धारित मूल्य से अधिक की वसूली का मामला भी बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा उठाया गया जिसकी जांच कराकर कठोर कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। अवैध शराब के निर्माण व बिक्री पर सख्त प्रतिबन्ध लगाने व इसका गोरखधन्धा चलाने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए व लगातार छापेमारी कराई जाय। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान प्रभारी  मंत्री ने निर्देश दिए कि विगत दो वर्ष के दौरान स्वास्थ्य विभाग मतें की गई सभी दवाओं सहित खरीददारियों की जांच डीएम स्वयं मजिस्ट्रेट नामित कर कराएं तथा हर खरीद का मिलान वे स्वयं द्वारा नामित अधिकारी से कराएं जिससे वास्तविक खरीद का पता चल सके। पंेशन व अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं को पात्रों तक पहुंचाने के लिए ग्राम पंचायत व ब्लाक सतर पर कैम्प लगवाने के निर्देशी सीडीओ को दिए हैं। प्रभारी मंत्री ने कहा कि श्रम विभाग में मजदूरों का फर्जी पंजीकरण करके वित्तीय घपले की शिकायतें प्राप्त हुई हैं जिसकी जांच डीएम स्वयं द्वारा नामित अधिकारियों से सत्यापित करा लें ओर यदि शिकायत सही हो तो जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ एक्शन लें। जल निगम द्वारा संचालित पेयजल योजनाओं के सुचारू सचंालन न हो पाने की भी शिकायत बैठक में में जनप्रतिनिधियों ने की। जिस पर डीएम ने सभी पेयजल योजनाओं की वास्तविक कराने के लिए अधिकारियों की टीम गठित कर दी है। विभिन्न पेंशन योजनाओं के सभी ब्लाकों पर लम्बित आवेदनों पर बैठक में ही खण्ड विकास अधिकारियों को फटकार लगाई गई तथा पन्द्रह दिन के अन्दर सभी आवेदन निस्तारित न हो जाने पर निलम्बन की चेतावनी दी गई हैं। इसी प्रकार मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत अधिक से अधिक गरीब कन्याओं का विवाह कराने के लिए अभियान चलाकर आवेदन कराने के निर्देश दिए। ओडीएफ और स्वच्छ भारत मिशन अभियान में युद्धस्तर पर तेजी लाने के निर्देश डीपीआरओ को दिए हैं। इसके अलावा प्रभारी मंत्री ने सौभाग्य योजना, खाद्यान्न वितरण, एनआरएलएम समूहों का गठन, मनरेगा के काार्यो की स्थिति, पंचायतीराज विभाग द्वारा कार्य योजना फीडिंग की स्थिति, महिला सशक्तीकरण, संड़कों के निर्माण व रखरखाव की स्थिति, नगरीय क्षत्रों में साफ-सफाई की व्यवस्था, विद्युतीकरण, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी व ग्रामीण सहित कई योजनाओं की समीक्षा की ।
    बैठक में डीएम डा0 नितिन बंसल, एसपी आर0पी0 सिंह, विधायक कटरा बाजार बावन सिंह, विधायक मेहनौन विनय कुमार द्विवेदी, विधायक तरबगंज प्रेम नरायन पाण्डेय, विधायक गौरा प्रभात वर्मा, सांसद प्रतिनिधि संजीव सिंह, सांसद प्रतिधि रमाश्ंाकर मिश्र, समाज कल्याण मंत्री के प्रतिनिधि वेेद प्रकाश दूबे,, एडीएम रत्नाकर मिश्र, एडिशनल एसपी महेन्द्र कुमार, सभी एसडीएम, सीओ व विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहे। बैठक का संचालन मुख्य विकास अधिकारी आशीष कुमार ने किया।

No comments:

Post a Comment